हर एक भारतीय को यह तो पता ही होगा कि 15 अगस्त भारत में एक विशेष रूप से मनाया जाता है । ब्रिटिश शासन के अंत के बाद 75 सालों से हमारा हिंदुस्तान आजादी का जश्न मना रहा है । आपको बता दें, 15 अगस्त को सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के कुल 5 देशों में भी स्वतंत्र दिवस मनाया जाता है।

भारत
भारत दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है, क्षेत्रफल के हिसाब से सातवां सबसे बड़ा देश है, और दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्र है। भारत में 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। 1947 में ब्रिटिश शासन के अंत के बाद भारत को एक स्वतंत्र देश घोषित कर दिया गया था।

बहरीन
बहरीन में स्वतंत्रता की घोषणा की 15 अगस्त, 1971 को नागरिकों के संयुक्त राष्ट्र सर्वेक्षण के बाद की गई थी। लेकिन आपको बता दें, बहरीन 16 दिसंबर को अपना राष्ट्रीय दिवस मनाता है क्योंकि उस दिन पूर्व शासक ईसा बिन सलमान अल खलीफा का शसन शुरू हुआ था। ईरान के शाह बहरीन पर ऐतिहासिक संप्रभुता का दावा कर रहे थे, उन्होंने संयुक्त राष्ट्र द्वारा आयोजित एक जनमत संग्रह को स्वीकार कर लिया और अंततः बहरीन ने स्वतंत्रता की घोषणा की और यूनाइटेड किंगडम के साथ दोस्ती की एक नई संधि पर हस्ताक्षर किए।

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया
उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया दोनों का ही स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है। 15 अगस्त, 1945 को कोरियाई प्रायद्वीप के जापानी उपनिवेश के अंत की याद दिलाता है। ग्वांगबोकजेओल दिन का दूसरा नाम है (जिसका अर्थ है प्रकाश की बहाली का समय)। कोरिया पर जापान का कोलोनियल शासन दूसरे विश्व युद्ध के आत्मसमर्पण के साथ समाप्त हुआ था। दक्षिण कोरिया को आधिकारिक तौर पर कोरिया रिपब्लिक के रूप में नामित किया गया है।

रिपब्लिक ऑफ कांगो
रिपब्लिक ऑफ कांगो 15 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है। यह देश मध्य अफ्रीका के पश्चिमी तट पर बसा हुआ है। वर्ष १९६० में, फ्रांस के शासन के ठीक ८० साल बाद, देश ने फ्रांस से पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्त की। कांगो सेना ने कुछ समय के लिए देश को अपने कब्जे में ले लिया और अल्फोंस मासम्बा-देबत के नेतृत्व में एक असैनिक अस्थायी सरकार की स्थापना की ।

लिकटेंस्टाइन
लिकटेंस्टीन, दुनिया का छठा सबसे छोटा देश, 15 अगस्त को जर्मन नियंत्रण से अपनी स्वतंत्रता का जश्न मनाता है और 1940 से ऐसा कर रहा है। लिकटेंस्टीन की सीमा पश्चिम और दक्षिण में स्विट्जरलैंड और पूर्व और उत्तर में ऑस्ट्रिया से लगती है। लिकटेंस्टीन दुनिया का एक शांत, ग्रामीण कोना था जो अपने यूरोपीय पड़ोसियों से काफी हद तक अप्रभावित था, प्रथम विश्व युद्ध और द्वितीय दोनों में अपनी तटस्थता बनाए रखता था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *