तालिबान के कब्जे में अफगानिस्तान, मुल्ला बरादर कभी भी संभाल सकता हैं कमान

0
Taliban LAtest NEws

नई दिल्ली। रविवार को तालिबान ने अपनी ताकत दिखाते हुए अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है। सूत्र के अनुसार, तालिबानियों के रविवार को काबुल में दाखिल होते ही अफगान सरकार घुटने टेकते हुए उनसे समझौता करने को तैयार हो गई। फिलहाल दोनों के बीच अंतरिम सरकार के गठन को लेकर बातचीत जारी है। समझौता होने के बाद मुल्ला बरादर कमान संभाल सकते हैं।

तालिबानी सूत्रों के मुताबिक, मुल्ला बरादर अखंद अंतरिम सरकार के प्रमुख हो सकते हैं। वैसे तो राष्ट्रपति बनने के लिए कई लोगों का नाम सामने आया है। लेकिन इसमें मुल्ला बरादर बाजी मारते देखे जा रहे हैं। फिलहाल मुल्ला बरादर तालिबान के कतर में दोहा स्थित दफ्तर के राजनीतिक प्रमुख हैं। इससे पहलेअफगानिस्तान के कार्यवाहक गृहमंत्री अब्दुल सत्तार मीरजकवाल ने बताया था कि तालिबान खुद काबुल पर हमला नहीं करना चाहता। वो शांतिपूर्ण तरीके से इस सत्ता को हथियाना चाहता है और ये इसी तरह होगा। वहीं, तालिबान ने भी अपने बयान में नागरिकों की सुरक्षा की गारंटी ली है।

बताते चलें कि, तालिबान ने हर तरफ से आज अफगान राजधानी काबुल में प्रवेश किया। इस दौरान उन्हें बेहद कम प्रतिरोध का सामना करना पड़ा। टोलो न्यूज की रिपोर्ट की मानें तो, तालिबान ने अब अपने सदस्यों को काबुल गेट के पास इंतजार करने और शहर में किसी तरह की घुसपैठ ना करने का आदेश दिया है। तालिबान की हिम्मत को देख पूरे विश्व की चिंता बढ़ गई है। इसी को देखते हुए रूस, अफगानिस्तान के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक आपातकालीन बैठक बुलाने पर काम कर रहा है।

इस मामले पर रूसी विशेष राष्ट्रपति के प्रतिनिधि ज़मीर काबुलोव का कहना है,’हम बैठक जरूर बुलाएंगे। हालांकि, इससे स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा। हमें इस बारे में पहले विचार करना चाहिए था। अब बैठक का कोई मतलब नहीं बनता।’ बता दें कि, तालिबान ने काबुल के चार बाहरी जिलों पर कब्जा किया है। जिनमें सारोबी, बगराम, पग़मान और काराबाग़ शामिल हैं। वहीं, काबुल के नागरिकों की मानें तो लोग काबुल में अपने घरों पर तालिबान के सफेद झंडे लगा रहे हैं। तालिबान ने रविवार को तड़के सुबह नंगरहार प्रांत की राजधानी जलालाबाद पर भी अपनी सत्ता कायम कर ली है। जलालाबाद पर भी कब्जा करने के लिए तालिबान को किसी तरह की जंग नहीं लड़नी पड़ी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here