Vaishno Devi Stampede: चश्मदीदों ने बताया हादसे का डरावना मंजर, आखिर 12 मौत का जिम्मेदार कौन?

0
Vaishno Devi Stampede
Vaishno Devi Stampede

नई दिल्ली: Vaishno Devi Stampede: आज नए साल 2022 (New Year) का पहला दिन है, जहां पूरा देश नए साल का जश्न मना रहा था वहीं जम्मू स्थित वैष्णो देवी मंदिर से एक ऐसी खबर आई जिसने पूरे देश को झकझोर कर दिया है। आपको बता दें की बीती रात वैष्णो देवी मंदिर स्थल में अचानक भगदड़ मच गई जिसमें 13 भक्त जनों की मौत हो गई और 15 से ज्यादा भक्त गंभीर रूप से घायल हो गए है। नए साल के अफसर पर कई भक्त माता के द्वार आशीवार्द लेने जाते है और इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ लेकिन इस बार वहां जाने वालो की संख्या कुछ ज्यादा थी।

ऐसा हुआ हादसा..
जम्‍मू कश्‍मीर के डीजीपी (DGP) दिलबाग सिंह ने बताया कि आधी रात करीब पौने तीन माता वैष्‍णो देवी भवन पर दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जमा थी। उस वक्‍त एक दूसरे के धक्‍का देने से हालात खराब हो गए और अचानक भगदड़ मच गई। इसके बाद वहां पर लोग खुद को बचाने के लिए एक दूसरे को रौंदते हुए आगे बढ़ने की कोशिश करने लगे। देखते ही देखते वहां पर घायलों की चीख पुकार से सारा मंजर ही बदल गया। जहां एक तरफ सब माता का दर्शन करने के लिए इंतजार कर रहें थे अब वही लोग रो-बिलख रहे थे, अपने परिजनो को ढूंढ रहे थे। चारो ओर अफरा-तफरी मची हुई थी इसी के साथ चारो दिशाओं में जूते-चप्पल, खून फैला हुआ था।

क्या है चश्मदीदों का कहना…
चश्मदीदों ने बताया की भीड़ इतनी थी कि लोगों के निकलने का रास्ता भी नहीं था। हड़बड़ी में इधर-उधर लोग भागने लगे। लुधियाना के एक यात्री ने कहा कि पुलिस घटना स्थल पर लोगों को कंट्रोल करने बजाय डंडे मार रही थी। वहीं एक अन्य महिला ने कहा कि यात्रियों को पर्ची के हिसाब से मंदिर में भेजना चाहिए था। बताया जा रहा है कि अधिकारियों द्वारा बेहिसाब यात्रा पर्ची काटी जा रही थी। एक महिला ने बताया की मंजर इतना डरावना था की उनको खंवे पर चढ़ कर जान बचानी पड़ी।

यह भी पढ़ें: Happy New Year 2022: नए साल पर भेजे अपने दोस्तों को शायरी, पढ़ते ही भूल जाएंगे सारी दुश्मनी..

श्राइन बोर्ड ने जारी किया बयान…
हादसे को लेकर श्राइन बोर्ड ने बयान जारी किया है। इस बयान में कहा गया है कि, रात करीब 2.15 बजे वैष्णो देवी भवन के गेट नंबर तीन के पास भगदड़ मची। श्राइन बोर्ड के अधिकारियों, पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा तुरंत राहत कार्य शुरू किया गया। इसी के साथ बोर्ड ने कहा की हादसे में 12 श्रद्धालुओं की मौत हुई और 15 श्रद्धालु घायल हो गए हैं।  सरकार ने तीन सदस्यों की टीम को उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं, जिसकी अध्यक्षता प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम करेंगे और उनके अलावा एडीजीपी जम्मू जोन और डिविजनल कमिश्नर जम्मू इसके सदस्य होंगे।
श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने एक समर्पित हेल्पलाइन की स्थापना की है, जिससे फोन नंबर 01991234804 और 01991234053 पर संपर्क किया जा सकता है। जिला प्रशासन द्वारा स्थापित हेल्पलाइन – पीसीआर कटरा 01991-232010/9419145182, पीसीआर रियासी 01991245076/9622856295; डीसी रियासी नियंत्रण कक्ष 01991-245763/9419839557 है।

इस हादसे को लेकर प्रधान मंत्री, राष्ट्रपति और अन्य मंत्रियों ने शोक जताया है और इसी के साथ केंद्र सरकार ने मृतको और घायल लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here