UP ELECTIONS 2022: “चुनावी रैलियों” पर, “कोरोना” का असर?

0
assembly elections 2022
assembly elections 2022

योगिता लढ़ा, नई दिल्ली। UP ELECTIONS: 2021 में आई कोरोना की दूसरी लहर आपको याद ही होगी। तब भी चुनाव से पहले कई बड़ी चुनावी रैलियां निकाली गई थी। जिसके बाद कोरोना संक्रमण के मामलों में भी तेजी से उछाल देखने को मिला था। ऐसा लग रहा है कि इस साल 2022 में भी ऐसा ही कुछ फिर से देखने को मिल सकता हैं। प्रदेश सरकारों ने कई नियमों को लागू तो कर दिया। लेकिन चुवानी रैलियों के कारण जो भीड़ इक्टठा हो रही है, उसका क्या? साल के शुरू होते ही कोरोना के बढ़ते मामले चिंता का कारण बन रहे हैं। जिसके बाद इसका असर अब पार्टियों पर भी दिख रहा हैं। आपको बता दें, 5 जनवरी को पीएम मोदी (PM Modi) की सुरक्षा में चुक के बाद अब एक बाद फिर से प्रधानमंत्री की एक रैली और केंसिल हो गई है।

हालांकि, चुवान आयोग ने तो साफ निर्देश दें दिए है कि चुवान निर्धारित समय पर होंगे। लेकिन क्या वाकई क्या चुवान आम आदमी की जिंदगी से ज्यादा महत्वपुर्ण है? जानकारी के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ-साथ कांग्रेस (Congress) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की भी रैलियां रद्द की गई है।

प्रधानमंत्री की लखनऊ रैली हुई रद्द:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में प्रधानमंत्री की रैली होनी थी। आपको बता दें, इस रैली का आयोजन 9 जनवरी को होना था। राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों के कारण इस लखनऊ रैली को रद्द कर दिया गया है। साथ ही बताया जा रहा है कि मौसम विभाग ने भी 8 जनवरी और 9 जनवरी को बारिश का अनुमान लगाया है। जिस कारण से पार्टी ने UP ELECTIONS रैली को रद्द करने का निर्णय ले लिया है।

नहीं होगी अखिलेश की विजय रथ यात्रा:
सपा (SP) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) रामलला की नगरी अयोध्या (Ayodhya) में विजय रथ यात्रा निकालने वाले थे। जिसके लिए 9 जनवरी का दिन तय किया गया था लेकिन आपको बता दें, कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण समाजवादी पार्टी को इस यात्रा को रद्द करना पड़ा। साथ ही साथ अयोध्या और रुदौली (Rudauli) में सपा दो रैलियां निकालने वाली थी। जिसे अभी के लिए आगे बढ़ा दिया गया है।

ये भी पढ़े: Sunita Baby: सुनिता ने लगाए कातिलाना ठूमके की लोग बोले ” गजब ढ़ा दिया “

कांग्रेस पार्टी ने रद्द की अपनी मैराथन:
सभी पार्टियों की तरह कांग्रेस भी चुनाव प्रचार करने में जुटी थी। हाल ही में कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) द्वारा एक मैराथन का आयोजन किया गया था। मेरठ (Merrut) में हुई इस मैराथन में हजारों की तादाद में आई लड़कियों ने मास्क नहीं लगा रखा था। साथ ही उस रैली में भगदड़ मचने के कारण इस मैराथन ने बहुत सुर्खियां बटोरी थी। कांग्रेस की इस बड़ी गलती के बाद, “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” मैराथन को फिलहाल के लिए रद्द कर दिया है। आपको बता दें, इस मैराथन का आयोजन उत्तर प्रदेश के कई बड़े जिले जैसे वाराणसी (Varanasi), नोएडा (Noida) समेत लगभग 8 जिलों में होना था।
पार्टी के सोशल मीडिया मैनेजर रोहन गुप्ता (Rohan Gupta) ने इस बात की जानकारी दी है कि अब कांग्रेस सोशल मीडिया का ज्यादा उपयोग करेगी। इसका मतलब ये होगा कि अब वर्चु्अल रैली पर ज्यादा फोकस रहेगा। साथ ही साथ जानकारी के मुताबिक अगले दो हफ्तों तक UP ELECTIONS में कांग्रेस किसी भी रैली, कार्यक्रम को नहीं करेगी। कोरोना कहर बरपा रहा है जिसका जीता जागता उदाहरण अब हमारे देश की सियासी पार्टियां दे रही हैं।
कोरोना का असर, कितना होगा चुनावों पर?
आपको बता दें, कुछ समय पहले ही चुनाव आयोग (Election commission) ने सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ एक मीटिंग की थी। जिस मीटिंग का अहम मुद्दा चुनाव रहा। आयोग द्वारा लिए गए निर्णय के मुताबिक 2022 में जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, वो निर्धारित समय पर ही होंगे। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद एक बार फिर से आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के साथ बैठक की है। सूत्रों के मुताबिक इलेक्शन कमिशन विधानसभा चुनावों में सख्त कोरोना गाइडलाइंस जारी कर सकता है। जिसका मतलब साफ है कि कोरोना की रफ्तार यदि तेज भी हो जाती है, फिर भी चुनावों की गति धीरे नहीं होने वाली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here