अभिषेक कुमार, नई दिल्लीः अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (एंटनी Blinkon)ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी ( Vang yee) से कहा की यूक्रेन के प्रति रूस के आक्रमक व्यवहार से ” वैश्विक सुरक्षा और आर्थिक जोखिम” पैदा होंगे।

ब्लिंकन ने चीनी विदेश मंत्री से कहा की संकट को हल करने का एकमात्र तरीका ” डी-एस्केलेशन” डिप्लोमेसी है। अमेरिका बार बार चेतावनी दे रहा है की रूस ने यूक्रेन की सीमा पर 100,000 से ज्यादा लोगों की यूक्रेन की सीमा पर आक्रमण के इरादे से जमा किया है, लेकिन रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा है की देश के सैनिक देश में कहीं भी घूम सकते हैं।

रूस ने पिछले महीने संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) और नाटो ( North Atlantic treaty Organisation) को एक सुरक्षा दस्तावेज़ प्रस्तुत किया था जिसमें कहा गया था की यूरोप अपने सैन्य गठबंधन में यूक्रियन को भागीदार बनाकर रूस के पूर्वी क्षेत्र में अपनी सीमा का विस्तार करना चाहता है। रूस ने अपने दस्तावेज में यूरोप को ऐसा न करने के निर्देश दिए गए थे।

हालांकि की बाइडेन प्रशासन ने इस समस्या का कूटनीतिक समाधान का आवाहन करते हुए रूस की मांग को खारिज कर दिया है। ब्लिंकन ने कहा की हमारे दृष्टिकोण से, हम स्पष्ट हैं नाटो का दरवाज़ा हमेशा से खुला है था और रहेगा यूक्रेन जब चाहे सदस्य बन सकता है।

रूस का समर्थन करने वाले चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि देश की ” उचित सुरक्षा चिंताओं को गंभीरता से लिया जाना चाहिए और हाल किया जाना चाहिए” जबकि वांग ने ब्लिंकन को बताया की ” क्षेत्रीय सुरक्षा की जानती सैन्य ब्लॉकों को मजबूत करने या यहां तक कि विस्तार करने से नहीं दी जा सकती।

आपको बता दें की यूक्रेन और रूस के बीच सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच नाटो ने 8,500 सैनिकों को स्टैंडबाय पर रखा है यानी किसी भी समय हमले के लिए तैयार रखा है। नाटो के महासचिव जेंस स्टोल्टनबर्ग ने कहा अमेरिका और यूरोपीय संघ ने रूस को गंभीर प्रतिबंधों सहित गंभीर परिणामों की चेतावनी दी है, और उन्होंने गठबंधन को सबसे खराब बताया है।

इसी बीच यूक्रेन के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि एक हमलावर द्वारा राइफल से गोली चलाने और क्षेत्र से भाग जाने के बाद, डिनिप्रो में एक एयरोस्पेस फैक्ट्री में एक राष्ट्रीय गार्ड के जवान द्वारा की गई गोलीबारी में काम से काम पांच लोग मारे गए।