1.5 अरब यूजर्स का फेसबुक डेटा हैकर फोरम पर बिक्री के लिए मिला, जानिए पूरा मामला…

0
FB DATA LEAK
FB DATA LEAK

गुरुत्व राजपूत, नई दिल्ली: 1.5 अरब फेसबुक उपयोगकर्ताओं का सार्वजनिक रूप से उपलब्ध डेटा एक हैकर फोरम पर बिक्री के लिए पाया गया। चोरी किए गए डेटा में नाम, ईमेल एड्रेस, स्थान, लिंग, फोन नंबर और फेसबुक यूजर आईडी की जानकारी शामिल है।फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप के लगभग 7 घंटे के लंबे आउटेज के कई दिनों बाद ये डिवेलपमेंट आई है।

हालांकि, दोनों घटनाएं असंबंधित हैं। एक गोपनीयता अनुसंधान कंपनी गोपनीयता मामलों के अनुसार, जो डेटा ऑनलाइन बिक्री के लिए पाया गया था, वह यह नहीं दर्शाता है कि किसी हैकर ने सिस्टम में सेंध लगाई थी, लेकिन कथित तौर पर सार्वजनिक रूप से उपलब्ध डेटा को स्क्रैप करके प्राप्त किया गया था। चोरी किए गए डेटा में नाम, ईमेल एड्रेस, स्थान, लिंग, फोन नंबर और फेसबुक यूजर आईडी की जानकारी शामिल है। स्क्रैपिंग का तात्पर्य सार्वजनिक रूप से उपलब्ध उपयोगकर्ता जानकारी को पकड़ना और फिर उन्हें डेटाबेस और सूचियों में व्यवस्थित करना है। 

हैकर्स ऑनलाइन क्विज़ और ट्रिविया के साथ उपयोगकर्ताओं को प्रस्तुत करके डेटा को स्क्रैप कर सकते हैं जिसमें उपयोगकर्ताओं को अपने व्यक्तिगत विवरण भरने की आवश्यकता होती है। इस डेटा के जरिए हैकर्स किसी यूजर की प्रोफाइल को और भी खंगाल कर उन्हें स्कैम कर सकते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फेसबुक द्वारा टेकडाउन रिक्वेस्ट भेजे जाने के बाद अब पोस्ट को हैकर फोरम से हटा लिया गया है। शोध लेख में हैकर के हवाले से बताया गया है कि जानकारी चार साल पुराने स्क्रैपिंग व्यवसाय की मदद से इकट्ठी की गई थी। रिपोर्ट ने दूसरों द्वारा खरीदे गए कुछ नमूनों की पुष्टि की। हालांकि, कुछ खरीदारों ने यह भी कहा कि विक्रेता को भुगतान करने के बावजूद उन्हें कोई डेटा नहीं मिला। इससे यह अटकलें लगाई जाने लगीं कि अगर हैकर किसी बड़े पैमाने के घोटाले का हिस्सा था या फिर यह बिल्कुल भी वैध था।

हैकर फोरम से हटाए जा रहे पोस्ट का मतलब है कि अभी तक, बिक्री के लिए कोई फेसबुक उपयोगकर्ता डेटा उपलब्ध नहीं है। हालांकि, उपयोगकर्ताओं को यह सुनिश्चित करना होगा कि अगर वे हैक से बचना चाहते हैं तो अपनी फेसबुक प्रोफाइल सार्वजनिक न रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here