सीबीएसई (Central board Of Education) ने छात्रो के लिए एक मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। कोरोना महामारी के दौरान कक्षा 9 से 12वीं (9 to 12 Class Students) तक छात्रों की मानसिक सेहत पर ध्यान देने के लिए यह मोबाइल ऐप बनाया गया है। इसके माध्यम से छात्रों की टेली काउंसलिंग की जाएगी। ऐप की मदद से छात्र और अभिभावकों को शिक्षा, स्वास्थ्य व सामाजिक विषयों पर प्रश्नों के उत्तर मिल सकेंगे। सीबीएसई के इस मोबाइल काउंसलिंग ऐप का नाम ‘दोस्त फॉर लाइफ’ (Dost For life) है। सीबीएसई के मुताबिक ऐप का इस्तेमाल छात्रों की साइको-सोशल (Psycho-social) वेलनेस में सुधार के लिए किया जाना है। सोमवार से यह ऐप छात्रों के लिए पूरी तरह उपलब्ध होगा।

सीबीएसई के अनुसार इस ऐप के माध्यम से छात्रों के लिए फ्री लाइव काउंसलिंग सेशन आयोजित किए जाएंगे। लाइव काउंसलिंग के लिए 83 वॉलेंटियर पहले ही जुड़ चुके हैं। इनमें से 66 भारत वॉलेंटियर में हैं। शेष 17 वॉलेंटियर सउदी अरब, यूएई, नेपाल, ओमान, कुवैत, जापान और यूएसए के हैं। काउंसलिंग सेशन हफ्ते में तीन दिन सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को होगा। काउंसलिंग सुबह 9 बजकर 30 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर 30 मिनट और 1 बजकर 30 मिनट से शाम पांच बजकर 30 मिनट तक होगी।

इस काउंसलिंग में शैक्षणिक, सोशल, इमोशनल और व्यवहार संबंधी सामग्री भी मौजूद होगी। इसके जरिए छात्रों की परीक्षा से जुड़ी चिंता, इंटरनेट एडिक्शन डिसऑर्डर, अवसाद और स्पेशिफिक लनिर्ंग डिसएबिलिटी को दूर किया जाएगा। इस एप में कई फीचर होंगे जिनमें से काउंसलिंग सेशन, एक्सपर्ट एडवाइस, बारहवीं के बाद क्या कोर्स करे इसके लिए गाइडेंस, मेंटल स्वास्थ्य संबंधी टिप्स और कोविड-19 संबंधी ऑर्डियो-वीडियो प्रोटोकॉल शामिल हैं।

इसके अलावा सीबीएसई बोर्ड दसवीं के छात्रों को पास होने के लिए एक और मौका देगा। 10वीं के छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन और अर्धवार्षिक परीक्षा के आधार पर पास किया जाएगा। इसके बावजूद भी अगर कोई छात्र फेल हो जाता है, तो बोर्ड की तरफ से उसे पास होने के लिए एक और मौका दिया जाएगा। इसके लिए छात्रों को कंपार्टमेंटल की परीक्षा देनी होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.