Tandav Controversy: अली अब्बास जफर की मोस्ट अवेटेड वेब सीरीज ‘तांडव’ हाल ही में रिलीज हुई है। रिलीज के साथ ही सीरीज को लेकर सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है। तांडव सीरीज पर हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप लग रहे हैं। साथ ही ट्विटर पर इसे बॉयकॉट करने की भी मांग तेज हो गई है। विवाद की वजह सीरीज का पहला एपिसोड ही बताया जा रहा है। पहले एपिसोड में जीशान अय्यूब भगवान शिव के रूप में नजर आ रहे हैं। साथ ही वो यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित करते भी दिखते हैं। जीशान का यही संवाद, सीरीज को विवादों में घेरने में कामयाब हो गया है।

वेब सीरीज को लेकर उठा बवाल अब जमीन पर आ पहुंचा है। रविवार यानी 17 जनवरी को बीजेपी नेता राम कदम अपने कार्यकर्ताओं के साथ मुंबई घाटकोपर पुलिस स्टेशन पहुंचे, जहां उन्होंने सीरीज के मेकर्स के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई। साथ ही इस पर जल्द से जल्द कार्रवाई का आवेदन किया।

इसके साथ ही राम कदम और भाजपा सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखा है। जिसमें वेब सीरीज के लिए सेंसर बोर्ड की व्यवस्था करने की मांग की गई है।

इस वजह से गहराया विवाद

सीरीज के पहले एपिसोड में जीशान अय्यूब मंच छात्रों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहते हैं,’आपको किससे आजादी चाहिए।’ जीशान के आते ही मंच संचालक कहता है- ‘नारायण-नारायण, प्रभु कुछ करिए। रामजी के फॉलोअर्स सोशल मीडिया पर लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मुझे लगता है हमें कोई नई स्ट्रेटजी बनानी चाहिए।’ इस पर जीशान अय्यूब आगे कहते हैं, ‘क्या करूं तस्वीर बदल दूं क्या?’ जिसके जवाब में मंच संचालक कहता है ‘भोलेनाथ आप तो बहुत ही भोले हैं।’

ऑडियंस के मुताबिक सीरीज का ये हिस्सा हिंदू भावनाओं और मान्यताओं को ठेस पहुंचाता है। साथ ही सीरीज को निगेटिव रिव्यू के जरिए सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। एक यूजर ने इस सीन का वीडियो शेयर करते हुए अली अब्बास जफर को निशाने पर लिया है। साथ ही इसके बॉयकॉट की मांग की है।

9 एपिसोड की इस सीरीज में सैफ अली खान, डिम्पल कपाडिया, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया, दीनो मोरिया, कुमुद मिश्रा, गौहर खान, अमायरा दस्तूर जैसे कई दिग्गज कलाकार शामिल हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.