TAMIL NADU RAINFALL: कई स्थानों पर रेड अलर्ट जारी, करंट के करण 3 लोगों की मौत

0
TAMILNADU RAINFALL

नई दिल्ली: तमिलनाडु (Tamilnadu) में राजधानी चेन्नई (Capital Chennai) समेत कई अन्य शहर बाढ़ से जूझ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने शुक्रवार और शनिवार के बीच तेज बारिश और आंधी आने का अनुमान लगाया था। जिस भविष्यवाणी के अनुसार साल अंत में राज्य को भारी बारिश का सामना करना पड़ रहा है। (TAMIL NADU RAINFALL)

फिलहाल तमिलनाडु सरकार ने चेन्नई, कांचीपुरम (Kanchipuram), तिरुवल्लूर (Thiruvallur) और चिंगलपेट (Chinglepet) सहित चार जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। साथ ही आपको बता दें, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (Chief Minister MK Stalin) ने गुरुवार रात ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन (Greater Chennai Corporation) के बाढ़ नियंत्रण कक्ष का दौरा किया था। उन्होंने राज्य की राजधानी के विभिन्न हिस्सों में बारिश, राहत और बचाव कार्यों की निगरानी करने वाले अधिकारियों से वर्तालाभ किया था।

TAMIL NADU RAINFALL: बारिश के कारण राज्य को हो रही असुविधा:


इस बीच एक दुखद समाचार भी सामने आया है। तमिलनाडु के राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री (Tamil Nadu Revenue and Disaster Management Minister) केकेएसएसआर रामचंद्रन (KKSSR Ramachandran) गुरुवार को बिजली का करंट लगने से तीन लोगों की मौत की पुष्टी की हैं।

इस मामले पर ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन के आयुक्त गगनदीप सिंह बेदी (Commissioner Gagandeep Singh Bedi) द्वारा दिए गए बयान के मुताबिक, अभी तक चेन्नई में पेड़ गिरने के 27 मामले सामने आ चुके हैं। साथ ही उन्होंने बताया है कि शहर में भारी बारिश के कारण हुए जलभराव के समाधान के लिए 145 से अधिक पंप कार्य कर रहे हैं।

आपको बता दें, चेन्नई में भारी बारिश के कारण कई जगह पानी भर गया है जिससे शहर के जेमिनी पुल (Jemini bridge) और वल्लुवर कोट्टम (Valluvar Kottam), त्यागराय नगर (Thyagaraya Nagar) और उस्मान रोड पर यातायात की आवाजाही में असुविधा हुई है। जिसके बाद, जलभराव वाली सड़कों पर संतुलन बनाने के लिए स्थानीय निवासी अपने वाहनों को धीरे-धीरे चला रहे हैं। बताया जा रहा है कि आज शुक्रवार यानी 31 दिसंबर की सुबह टी.नगर में बारिश के कारण घुटनों तक पानी भर गया था। जिसके करण घरों में पानी को घुसने से रोकने की कोशिश में लोग अपने घरों के बाहर रेत के बोरे लगाए हैं।

एक स्थानीय निवासी कहा, “कल हमारे क्षेत्र (T. Nagar) में छह घंटे तक भारी बारिश हुई। सड़कों पर पानी भर जाने के कारण मैं आज अपने कार्यालय नहीं जा सका।” साथ ही स्थानीय निवासियों द्वारा सरकार से ये अपील की जा रही है कि एक स्थायी समाधान निकाला जाए जिसके बाद शहर में भारी बारिश के बाद भी पानी जमा ना हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here