Up Election 2022:”भाजपा ख़त्म” अखिलेश ने दी भाजपा को चुनौती…

0
Swami prashad maurya regins

लखनऊ: विधान सभा चुनाव की तारीख अब काफी नज़दीक आ चुकी है जिसके कारण राजनीतिक दलों में थोड़े उत्साह के साथ साथ काफ़ी चिंताओं का इज़ात हो रहा है। इसके साथ साथ ही कई राजनीतिक दलों को बड़े झटके भी लगे हैं जब उनके नेताओं और मंत्रियों ने दूसरे राजनीतिक दल की सदस्यता ग्रहण कर ली। हाल ही में भाजपा में योगी कैबिनेट के मंत्री पद से इस्तीफ़ा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। यह भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनाव से पहले एक बड़े भूकंप जैसा था। Up Election 2022

स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने भाजपा से इस्तीफे का कारण बताया कि- दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार, नौजवानों और छोटे-लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों के प्रति भाजपा के बुरे रवैय्ये को देखकर उन्होंने उत्तर प्रदेश के योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया।

ऐसे में अपनी पार्टी में दिग्गज नेताओं के शामिल होने की खुशी और मन में आत्मविश्वास से चूर होकर समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने भी 2022 विधान सभा चुनाव में भाजपा को करारी हार देने की चुनौती दे दी है। अखिलेश ने अपने ट्विटर हैंडल पर भाजपा के तरफ निशाना साधते और तंज कसते हुए कहा है कि भाजपा बांटने और अपमान करने वाली राजनीति करती है और इस बार सभी पिछड़े वर्गों का मेल होगा और भाजपा की करारी हार होगी। अखिलेश यादव ने अपनी ट्वीट में लिखा है- “इस बार सभी शोषितों, वंचितों, उत्पीड़ितों, उपेक्षितों का ‘मेल’ होगा और भाजपा की बाँटने व अपमान करनेवाली राजनीति के ख़िलाफ़ सपा की सबको सम्मान देनेवाली राजनीति का इंक़लाब होगा।
बाइस में सबके मेल मिलाप से सकारात्मक राजनीति का ‘मेला होबे’!
भाजपा की ऐतिहासिक हार होगी!
#भाजपा_ख़त्म”

 

चुनाव में बहुत कम दिन शेष बचे हैं ऐसे में नेताओं और मंत्रियों का एक पार्टी को छोड़कर दूसरे पार्टी में शामिल होना भी लगा हुआ है। इसके साथ ही सभी राजनीतिक दल एक दूसरे पर ताने और निशाने साध रहे हैं। हाल ही में ख़बर यह भी आ रही है कि भाजपा के मंत्री- धर्म सिंह सैनी और दारा सिंह चौहान भी भाजपा का साथ छोड़ कर सपा का दामन थाम सकते हैं हालांकि यही खबर कितनी सच्ची है इसकी जानकारी अब तक नहीं मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here