रिकॉर्ड्स बनते है टूटने के लिए पर कुछ रिकॉर्ड्स बनते हैं रहने के लिए. एक ऐसा ही रिकॉर्ड 1940 से अब तक अपनी जगह पर काबिज़ है.ये रिकॉर्ड है इतिहास के सबसे लंबे आदमी के तौर पर विख्यात रॉबर्ट वॉड्लो का .वह दुनिया के अब तक के सबसे लंबे व्यक्ति के तौर पर जाने जाते हैं.उनकी लंबाई आठ फीट 11.1 इंच थी. इतना लंबा व्यक्ति उनके बाद आज तक धरती पर पैदा नहीं हुआ है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में उनका नाम आज भी दर्ज है.

रॉबर्ट अमेरिका के एल्टन (इलीनोइस) शहर के रहने वाले थे. 22 फरवरी 1918 को जन्मे रॉबर्ट के माता-पिता तो सामान्य ऊंचाई वाले थे, लेकिन उनकी ऊंचाई जन्म के कुछ महीने बाद से ही बेतहाशा बढ़ने लगी थी.महज छह महीने में ही उनकी लंबाई तीन फीट के करीब हो गई थी जबकि उनके जितनी ऊंचाई पाने में सामान्य बच्चों को कम से कम दो साल का वक्त लगता है.









दरअसल , साल 1936 में महज 18 साल की उम्र में रॉबर्ट ने दुनिया के सबसे लंबे आदमी का रिकॉर्ड तोड़ दिया था .उस समय उनकी ऊंचाई आठ फीट चार इंच थी.वैसे आमतौर पर लोग 9-10 या 11 नंबर का जूता पहनते हैं, लेकिन एक जूते बनाने वाली कंपनी ने रॉबर्ट के लिए खास जूते बनाए थे, जिसका साइज 37AA था.

बताया जाता है कि रॉबर्ट के शव को 450 किलो भारी ताबूत में रखकर दफनाया गया था.इस ताबूत को उठाने में 12 से ज्यादा लोग लगे थे. उन्हें एल्टन के ओकवुड कब्रिस्तान में दफनाया गया है.एल्टन में उनकी एक आदमकद मूर्ति आज भी लगी हुई है.

Leave a comment

Your email address will not be published.