भुवनेश्वर: Pathani Samanta Planetarium के उप-निदेशक डॉ. सुवेंदु पटनायक ने बताया कि आज (2 अगस्त को) सुबह 11.30 बजे शनि और पृथ्वी एक-दूसरे के सबसे करीब होंगे। इसी के साथ उन्होने कहा कि पुरे विश्व में यह नज़ारा रात में देखने को मिलेगा लेकिन भारतीय समय के अनुसार यह सुबह 11:30 को देखने को मिलेगा। इस नज़ारे में शनि-ग्रह सबसे चमकता हुआ नज़र आएगा।
उन्होंने बताया कि पृथ्वी को सूर्य की परिक्रमा करने में लगभग 365 दिन लगते हैं जबकि शनि को सूर्य की एक पूर्ण परिक्रमा पूरी करने में लगभग 29.5 वर्ष लगते हैं।
Planetarium के एक अधिकारी ने कहा “हर साल एक बार, पृथ्वी और शनि अपने कक्षीय पथ में घूमते हुए एक-दूसरे के करीब आते हैं। 1 वर्ष और 13 दिनों के समय में, वे एक-दूसरे के सबसे करीब आते हैं। इससे पहले, वे 20 जुलाई, 2020 को करीब आते थे और 14 अगस्त, 2022 को फिर से ऐसा करें,”
उन्होंने आगे कहा, “जब वे एक-दूसरे के बहुत करीब होंगे, तो औसत दूरी लगभग 120 करोड़ किलोमीटर होगी, जो उनके बीच की अधिकतम दूरी की तुलना में 50 करोड़ किलोमीटर कम है, जो कि 6 महीने के बाद होता है जब शनि इस पार होगा। पृथ्वी के दूसरी तरफ।”
उनके अनुसार, शनि नंगी आंखों से भी चमकीला दिखाई देगा और इसे अगस्त के पूरे महीने में रात भर देखा जा सकता है।
उन्होंने कहा, “शनि के कुछ उपग्रहों को एक छोटी दूरबीन से भी देखा जा सकता है।”

Leave a comment

Your email address will not be published.