पूर्व कप्तान ऑस्ट्रेलियाई स्टीवन स्मिथ और उनके दो अन्य खिलाड़ियों के बॉल टैंपरिंग गेट को 3 साल से अधिक समय हो चूका हैं। तीनों खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था, लेकिन डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए सभी प्रारूपों में मजबूत होकर वापस आए।

स्टीव स्मिथ की गैर मौजदूगी में, आरोन फिंच और टिम पेन को क्रमशः सीमित ओवर फॉर्मेट और टेस्ट फॉर्मेट में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के लिए कप्तानी की भूमिका दी गई थी। फिंच ने एकदिवसीय फॉर्मेट में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड कप के सेमीफइनल में जगह दिलाई थी जहा एक टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ऑस्ट्रेलिया को कोई मौका भी नहीं दे रहा था, लेकिन सवाल अभी भी टेस्ट कप्तान टिम पेन पर हैं जिन्होंने अभी हाल ही में भारत के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज़ हारी है।

स्टीवन स्मिथ ने एक बार फिर से अपने राष्ट्रीय पक्ष के नेता बनने की इच्छा व्यक्त की है।

एबीसी स्पोर्ट के अनुसार लैंगर ने कहा, “हमारे पास दो बहुत अच्छे कप्तान हैं और आगे हमें दो महत्वपूर्ण प्रतियोगिताओं एशेज और टी20 विश्व कप में खेलना है. हमारा भविष्य उज्ज्वल दिख रहा है. मीडिया में चल रही चर्चा के बावजूद कप्तानी का पद उपलब्ध नहीं है.”

स्मिथ ने ‘न्यूज कॉर्प’ से कहा, ”मैंने निश्चित तौर पर इस पर बहुत गहन विचार किया और अब मुझे लगता है कि मैं उस स्थिति में पहुंच गया हूं, जहां मुझे फिर से मौका मिलता है तो उसके लिये उत्सुक रहूंगा.”

उन्होंने कहा, ”अगर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया चाहता है और यह टीम के लिये सर्वश्रेष्ठ है तो निश्चित तौर पर इसमें मेरी दिलचस्पी होगी.”

”मैं टीम की कप्तानी करूं या न करूं मुझे केपटाउन की घटना के साथ जीना होगा. मैंने पिछले कुछ सालों में काफी कुछ सीखा है और एक इंसान के रूप में अधिक परिपक्व हुआ हूं.”

उन्होंने आगे कहा, ”मुझे लगता है कि अगर मौका मिलता है तो उसे संभालने के लिये बेहतर स्थिति में रहूंगा. अगर ऐसा नहीं होता है तो मैं तब भी टीम के कप्तान का उसी तरह से समर्थन जारी रखूंगा जैसे (टेस्ट कप्तान) टिम पेन और फिंची (वनडे कप्तान आरोन फिंच) का समर्थन करता रहा हूं.”

टिम पेन ने टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलियाई पक्ष का नेतृत्व करते हुए टेस्ट में शुरुआती चरण में उन्हें एशेज रीटेन करा और बाद में, न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ श्रृंखला जीती लेकिन बाद में रहाणे और कंपनी ने ऑस्ट्रेलियाई लाइनअप को पूरी तरह से नष्ट कर दिया और उन्हें उनके के घर पर एक नई नवेली भारतीय टीम से शिकस्त दी, जिसके बाद शायद हो सकता है की ऑस्ट्रेलिया कप्तानी के बारे में सोच सकती है और स्टीव स्मिथ से बेहतर विकल्प फ़िलहाल तो ऑस्ट्रेलिया के पास नहीं हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.