नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में भारत को पहला स्वर्ण जिताने वाले नीरज चोपड़ा ने शानदार प्रदर्शन करके देश का नाम रोशन किया है। आपको बता दें, यह पदक जेवलिन थ्रो में जीता गया है। नीरज ने टोक्यो ओलंपिक्स में अपने 87.58 मीटर के थ्रो के साथ पुरुषों के जेवलिन थ्रो फाइनल में इतिहास रचा है। सभी देशवासियों को यह जानकर और भी गर्व होगा की विजेता नीरज चोपड़ा जेवलिन चैंपियन के साथ साथ भारतीय सेना में सूबेदार की भी जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं और इन्होनें 4 राजपूताना राइफल्स को भी अपने नाम कर रखा हैं। इससे पहले भी कई बार नीरज ने अपनी योग्यता का परिचय दिया है और पदक जीत कर देश के नाम किए हैं।

नीरज ने दक्षिण एशियाई खेल 2016 में स्वर्ण पदक के साथ अपना खाता खोला था और तब से लेकर अब तक कुल 6 पदक लाकर भारत का नाम ऊंचा किया है। इसमें 2016 में विश्व अंडर -20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक, एशियाई जूनियर चैंपियनशिप का रजत पदक, 2017 में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक, 2018 में राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक और एशियाई खेल में स्वर्ण पदक शामिल हैं। नीरज ने साथ ही वर्तमान विश्व जूनियर 2016 में 86.48 मीटर और इस साल टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में वर्तमान राष्ट्रीय 88.07 मीटर का रिकोर्ड बनाया हैं।

इस पर भारतीय सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा है कि,”भारतीय सेना के सूबेदार नीरज चोपड़ा ने ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में पहला स्वर्ण पदक जीतकर देश को गौरवान्वित किया है। हमें गर्व है कि वह भारतीय सेना का हिस्सा हैं।” वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा को छह करोड़ रुपये का नकद इनाम और सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

ओलंपिक्स में ट्रैक एंड फील्ड पदक के लिए भारत 100 साल से ज्यादा का इंतजार कर रहा था और जो की आज नीरज की वजह से खत्म हो चुका है। देश के नाम पहला स्वर्ण पदक करके नीरज टोक्यो ओलंपिक्स के समापन समारोह में भारत के लिए झंडा भी फहराएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.