छत्तीसगढ़ के उग्रवाद प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में गुरुवार को नक्सलियों ने एक स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) को उड़ा दिया, जिसमें वे एक तात्कालिक विस्फोटक उपकरण का उपयोग कर यात्रा कर रहे थे, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और 11 अन्य घायल हो गए।
जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने पीटीआई-भाषा को बताया कि यह घटना राज्य की राजधानी रायपुर से करीब 400 किलोमीटर दूर मालेवाडी थाना क्षेत्र के घोटिया गांव के पास नारायणपुर को दंतेवाड़ा से जोड़ने वाले एक निर्माणाधीन मार्ग पर सुबह करीब साढ़े सात बजे हुई।

गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों में से एक, जिसकी पहचान पड़ोसी बालाघाट जिले (मध्य प्रदेश में) के रहने वाले धन सिंह के रूप में हुई, ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। उन्होंने कहा कि राजानंदगांव जिले (छ.ग.) और बालाघाट (मप्र) के रहने वाले पीड़ित किसी निजी काम से तेलंगाना जा रहे थे।

एसपी ने कहा, ”यह एक कमांड आईईडी था, जिसे माओवादियों ने ट्रिगर किया था क्योंकि हमें तार मिले हैं। विस्फोट में एक महिला समेत सभी 12 लोग घायल हो गए। पुलिस टीम मौके पर पहुंची और उन्हें बचाया।” उन्होंने कहा, ”माओवादियों ने एसयूवी को पुलिस वाहन समझकर इसे निशाना बनाया होगा।”

पुलिस अधिकारी ने कहा, ”वे सभी मजदूर थे और बालाघाट (एमपी) से तेलंगाना जा रहे थे। नारायणपुर को दंतेवाड़ा से जोड़ने वाले निर्माणाधीन मार्ग पर किसी भी पुलिस वाहन की अनुमति नहीं है। ड्राइवर गूगल मैप का अनुसरण कर रहा था, इसलिए वह उस क्षेत्र में घुस गया और उसे निशाना बनाया गया।”

Leave a comment

Your email address will not be published.