योगिता लढ़ा, नई दिल्ली। UP ELECTIONS 2022: शुक्रवार को समाजवादी पार्टी (SP) की लखनऊ “वर्चुअल” रैली (Lucknow virtual rally) में भीड़ उमड़ गई थी। जिसके बाद चुनाव आयोग (EC) ने शनिवार को सपा के ख़िलाफ़ कथित तौर पर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन पर नोटिस जारी किया और 24 घंटे के भीतर जवाब देने करने को कहा है। 

आयोग ने नोटिस में कहा कि उपलब्ध रिपोर्ट ये पहला सुझाव देती है कि सपा ने आयोग के उपरोक्त कानूनी निर्देशों का उल्लंघन किया है। “इसलिए, आयोग ने इस मामले में उपलब्ध सबूतों और मौजूदा निर्देशों पर विचार करने के बाद, आपको उक्त उल्लंघनों के संबंध में अपना पक्ष स्पष्ट करने का अवसर देने का निर्णय लिया है।”

चुनाव आयोग ने आगे कहा, “इस नोटिस के 24 घंटों के भीतर आपका स्पष्टीकरण आयोग के पास पहुंच जाना चाहिए। जिसमें विफल होने पर आयोग आपके बिना किसी संदर्भ के मामले का उचित फ़ैसला लेगा।”

ये भी पढ़े: सपा प्रत्याशी नाहिद हसन गैंगस्टर एक्ट के तहत हुए गिरफ्तार…

चुनाव आयोग ने ये भी कहा कि राजनीतिक दल चुनावी प्रक्रिया में महत्वपूर्ण हितधारक हैं। वे हमेशा चुनौतीपूर्ण समय के दौरान भी चुनाव कराने के अपने संवैधानिक कर्तव्यों को पूरा करने में आयोग का साथ निभा रहे हैं। उनसे बड़े पैमाने पर जनता के बीच उच्च मानकों को स्थापित करने की उम्मीद की जाती है। 

आयोग ने ये भी कहा कि आईपीसी, 1860 की धारा ए188, 269, 270 और 341 के तहत; सपा नेताओं के खिलाफ 14 जनवरी को आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 54 और महामारी अधिनियम, 1897 की धारा 03 के तहत केस दर्ज करवाया गया था।

इससे पहले शुक्रवार को, सपा ने अपने मुख्यालय में कोविड मानदंडों का उल्लंघन के बाद बैठक की थी। जिसके बाद  चुनाव आयोग ने गौतमपल्ली (Gautampally) के स्टेशन हाउस ऑफिसर (SHO) को सस्पेंड कर दिया और लखनऊ जिला मजिस्ट्रेट ने वरिष्ठ अधिकारियों से लिखित स्पष्टीकरण मांगा। 

Leave a comment

Your email address will not be published.