Bengaluru: एक चौंकाने वाली घटना में, आवारा कुत्तों के झुंड ने एक बेसहारा महिला की जान ले ली। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। राजराजेश्वरी नगर पुलिस अधिकारियों के अनुसार, 60 वर्षीय महिला (60 year old woman) की पहचान होनी बाकी है, लेकिन प्रारंभिक जांच में पता चला है कि वह बेघर थी और शहर की सड़कों पर सोती थी और शरण लेती थी।

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार की रात करीब साढ़े नौ बजे सबसे पहले आवारा कुत्तों के एक बड़े झुंड ने बुजुर्ग महिला का पीछा किया। उस समय कुछ लोग उसके बचाव में आए और आवारा कुत्तों को खदेड़ दिया, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि उसी झुंड ने आधी रात के आसपास उस पर हमला किया और उसे मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस ने कहा कि कई आवारा कुत्तों की घटनाओं की सूचना नहीं मिलती है। पशुधन राज्यों की 2012 की पशुगणना (Cattle census) के अनुसार, बेंगलुरु में 1.83 लाख आवारा और 1.43 लाख पालतू कुत्ते हैं, कुल 3.27 लाख कुत्ते हैं।

पशु कल्याण (animal welfare) में कार्यकर्ताओं ने कहा कि आवारा कुत्तों की संख्या में वृद्धि का कारण बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) द्वारा ‘पशु जन्म नियंत्रण (ABC) कार्यक्रम को लागू करने में विफलता’ है। इसके अलावा, पालतू कुत्तों का परित्याग भी एक अन्य प्रमुख मुद्दा है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि कई लोगों को पालतू जानवर रखने की जिम्मेदारी का एहसास नहीं होता है और इसलिए, वे दो दिनों और एक सप्ताह के बीच कुत्तों को छोड़ देते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.