Ekadashi 2024: इस दिन मनाई जाएगी फरवरी मास की पहली एकादशी, जानें तिथि और पूजा कि सम्पूर्ण विधि

ekadashi-2024

Ekadashi 2024: सनातन धर्म में एकादशी का धार्मिक महत्व है। यह दिन भगवान विष्णु को समर्पित है। इस शुभ दिन पर भक्त उपवास रखते हैं और अगले दिन यानी द्वादशी तिथि पर इस व्रत को पूरा करते हैं। इसके अलावा कुछ लोग विशेष पूजा करने के लिए भगवान विष्णु के मंदिर जाते हैं। एकादशी एक मास में दो बार आती है। एक कृष्ण पक्ष और दूसरी शुक्ल पक्ष। इस मास यह 5 फरवरी को मनाई जाएगी।

एकादशी तिथि और समय

  • एकादशी तिथि का आरंभ – 05 फरवरी शाम 05:24 से होगा।
  • एकादशी तिथि का समापन – 06 फरवरी शाम 04:07 पर होगा।

एकादशी का धार्मिक महत्व

हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का अपना ही महत्व है। यह व्रत सबसे पवित्र व्रतों में से एक माना गया है। एक साल में कुल 24 एकादशी होतीं हैं, जो भक्त अत्यधिक भक्ति और समर्पण के साथ एकादशी व्रत का पालन करते हैं, भगवान विष्णु उन्हें धन, स्वास्थ्य और सभी सांसारिक सुखों का वरदान देते हैं। साथ ही वैकुंठ धाम में स्थान देते हैं।

एकादशी पूजा विधि-

  • सुबह जल्दी उठकर स्नानआदि कर लें।
  • घर और मंदिर को साफ करें।
  • चंद्र या फिर हल्दी का तिलक लगाएं।
  • पीले फूलों की माला अर्पित करें।
  • भगवान विष्णु की मूर्ति के सामने देसी घी का दीपक जलाएं और पूरी श्रद्धा से एकादशी व्रत करने का संकल्प लें।
  • भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करें।
  • भगवान की पूजा में पंचामृत और तुलसी जल जरूर शामिल करें।
  • पूजा को आरती के साथ पूर्ण करें।
  • प्रसाद गृहन करके अपना उपवास खोलें।