Tulsi Mala Niyam: किस दिन पहने तुलसी की माला, जिससे आपको मिलने ये अद्भुत लाभ

tulsi-mala-niyam

Tulsi Mala Rules: आपने कई लोगों को तुलसी माला पहने हुए देखा होगा। यह माला कोई आम माला नहीं होती बल्कि इसे पहनने से व्यक्ति को कई तरह के लाभ मिलते हैं। लेकिन उसके साथ ही तुलसी की माला धारण करने के बाद कुछ नियमों का भी पालन करना भी बेहद आवश्यक है। जिससे कि इसका पूर्ण लाभ आपको मिल सके।

मिलते हैं ये लाभ

हिंदू धर्म में तुलसी को धन की देवी मां लक्ष्मी का ही रूप माना जाता है। ऐसे में तुलसी की माला पहनने से व्यक्ति को विशेष लाभ मिलते हैं। माना जाता है कि इसे धारण करने वाले व्यक्ति के जीवन में हमेशा खुशहाली और स्मृद्धि बनी रहती है।

कब पहनें तुलसी की माला

तुलसी की माला को पहनने के लिए सबसे अच्छा समय प्रदोष काल को माना गया है। इसके साथ ही सोमवार, गुरुवार या बुधवार के दिन भी तुलसी की माला को पहना जा सकता है। लेकिन इसे रविवार और अमावस्या के दिन  नहीं पहनना चाहिए। वहीं, गर्भावस्था के समय भी ये माला धारण नहीं करनी चाहिए। आप किसी पंडित से परामर्श लेकर शुभ मुहूर्त मे भी तुलसी माला को धारण करें।

खानपान से सम्बंधित नियम

जिस व्यक्ति ने तुलसी की माला धारण की हुई है, उसे कभी भी मांस-मदिरा आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही लहसुन-प्याज का सेवन से भी बचना चाहिए, यदि आप इन नियमों का पालन नहीं करते हैं तो आपको तुलसी की माला के लाभ प्राप्त नहीं होते। इसके स्थान पर हमेशा सात्विक भोजन का ही सेवन करें।

यह काम ज़रूर करें

जब भी आप तुलसी की माला उतारें, तो उसे गंगाजल से शुद्ध करने के बाद ही दोबारा पहने। साथ ही तुलसी की माला पहनने के बाद रोजाना विष्णु जी के मंत्रों का जाप करने से व्यक्ति को सुख स्मृद्धि की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही व्यक्ति को मानसिक शांति का भी अनुभव मिलता है।