Shrimad Bhagwat Gita: रोजाना गीता के पाठ करने से भगवान देते है ये खास आशीर्वाद, पर पहले जान लें ये नियम

shrimad-bhagwat-gita

Shrimad Bhagwat Gita: महाभारत के धर्मयुद्ध में भगवान श्री कृष्ण अर्जुन के सारथी बने और उसकी जीत को सुनिश्चित किया। श्री कृष्ण अर्जुन को गीता का उपदेश दिया। आज केवल देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी लोग गीता का पाठ करने लगे हैं। ऐसे में यदि आपके घर में गीता रखी हुई है तो ऐसे में आपको कुछ खास नियमों का ध्यान रखना आवश्यक है।

भगवद गीता न केवल एक हिंदू धर्म ग्रंथ है, बल्कि यह मनुष्य को जीवन के दुखों से लड़ने का भी संदेश देती है। गीता का उपदेश भगवान श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को युद्ध की भूमि पर दिया गया था। इस ज्ञान के कारण ही अर्जुन धर्म और अधर्म के बीच के भेद को समझ पाया। भगवद गीता के नियमित पाठ से जीवन की हर समस्या को हल किया जा सकता है।

गीता पाठ करने के लाभ

धार्मिक पुराणों में माना गया है कि जिस घर में नियमित रूप से गीता का पाठ किया जाता है, वहां हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहती है। गीता के नियमित पाठ से व्यक्ति को मानसिक शांति कि प्राप्ति मिलती है, साथ ही जीवन की कई परेशानियों से भी छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ ही व्यक्ति के जीवन से सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा दूर होने लगती है। गीता के रोजाना पाठन से व्यक्ति के आत्मविश्वास में वृद्धि होती है, जिससे वह जीवन में सफलता पा लेता है।

गीता पाठ के नियम

श्रीमद्भागवत गीता का पाठ हमेशा स्नान आदि करके साफ-सुथरे कपड़े पहनकर ही करना चाहिए। इसके बाद एक आसन पर बैठ जाएं और लकड़ी से बनी पूजा चौकी या काठ पर रखकर गीता का पाठ करें। ध्यान रखें कि कभी भी जमीन पर या हाथ में रखकर गीता का पाठ नहीं करना चाहिए।

सुप्रिया राज को मीडिया छेत्र में लगभग दो सालो का अनुभव है। सुप्रिया दैनिक भास्कर में बतौर एंटरटेनमेंट न्यूज़ कंटेंट राइटर के रूप में काम किया है, उसके बाद कई सारे मीडिया हाउस में फ्रीलान्स भी किया किया है। फरवरी 2023 से समाचार नगरी के साथ जुडी है और यहां (एंटरटेनमेंट, धर्म/अध्यात्म, ज्योतिष, गैजेट, और ऑटो) की खबरों पर काम कर रही हैं। सुप्रिया राज का मकसद लोगों तक बेहतरीन हिंदी स्टोरी पहुंचाना है।