Sakat Chauth 2024: इस दिन मनाई जाएगी सकट चौथ, जरुर करें यह उपाय होगी पुत्र रत्न प्राप्ति

Sakat Chauth 2024: हर वर्ष सकट चौथ (Sakat Chauth) सम्पूर्ण देश में बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है। इस दिन महिलाएं व्रत रखती है इस व्रत का उद्देश्य परिवार और बच्चों की भलाई और समृद्धि के लिए भगवान गणेश से प्रार्थना करना है, सकट चौथ (Sakat Chauth) को संकष्टी चतुर्थी या संकटहारा चतुर्थी भी कहा जाता है। अगर बात करे तो सकट चौथ का त्यौहार हिंदू माह माघ के कृष्ण पक्ष के चौथे दिन पड़ता है। आइये जानते है इस दिन से जुडी जानकारी :
हर वर्ष सकट चौथ मुख्य रूप से भारत के उत्तरी राज्यों में मनाई जाती है। पंचांग के अनुसार इस वर्ष सकट चौथ 29 जनवरी को मनाया जाएगा.

आइये जानते है शुभ मुहूर्त का समय :

हिन्दू पंचांग के अनुसार, चतुर्थी तिथि 29 जनवरी को सुबह 6:10 बजे शुरू होगी और 30 जनवरी को सुबह 8:54 बजे खत्म होगी।

इस तरह करें अनुष्ठान :

इस दिन की शुरुआत में जल्दी स्नान करें और फिर पूरे दिन सकट चौथ व्रत रखने का संकल्प ले। फिर वे मूर्ति को नए कपड़े पहनाकर तैयार करें और उसे एक चौकी पर स्थापित करें। फिर भगवान गणेश जी की मूर्ति पर फूल, फल और मिठाइयाँ चढ़ाये और फिर सकट चौथ की आरती करें। अगर आपने व्रत रखा है तो इस दिन तिल के लड्डू को प्रसाद के रूप में ग्रहण करें इससे आपका व्रत खुल जायेगा. पूजन के समय इस मन्त्र का जाप अवश्य करें :


ॐ गं गणपतये नमः

ॐ एकदन्ताय विद्धमहे, वक्रतुण्डाय धीमहि,

तन्नो दंति प्रचोदयात्.

अगर बात करें इस व्रत (Sakat Chauth) की तो जो पति-पत्नी अपने रिश्ते में समस्याओं का सामना कर रहे है या उन्हें संतान नहीं हो रहा है तो ऐसे में आप इस व्रत को अवश्य करें. कहा जाता है की भगवान गणेश इस व्रत(Sakat Chauth) को करने वालों के उपर अपनी कृपा दृष्टी बनाये रखते है.

पूजा कांजानी ने बैचलर ऑफ़ मास कम्युनिकेशन की पढाई कम्पलीट करने के बाद साल 2019 में उन्होंने डिजिटल मीडिया से अपने करियर की शुरुआत की। उसके बाद उन्होंने एक बड़े मीडिया हाउस में बतौर टीवी ऐंकर भी कार्य किया है। इन 3 वर्षों के करियर में ऑटो-गैजेट्स, लाइफस्टाइल, धार्मिक, फीचर्स तथा राजनीति पर न्यूज़ आर्टिकल लेख लिख चुकी हैं। जनवरी 2023 से बतौर कंटेंट राइटर के तौर पे समाचार नगरी में कार्यरत है.