Suryagrahan 2023: इस दिन 20 अप्रैल को सूर्यग्रहण पर गर्भवती महिलाएं जरुर रखें यह ध्यान वरना बहुत होगा पछतावा

Suryagrahan 2023: ग्रहण धार्मिक आधारों पर कुछ लोगों के लिए महत्वपूर्ण घटना हो सकती है, और गर्भवती महिलाओं को अपनी स्वास्थ्य और शारीरिक सुरक्षा के लिए विशेष ख्याल रखने की जरूरत हो सकती है। ग्रहण के समय सूर्य देव संकट में होते हैं और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस समय शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। इसलिए, गर्भवती महिलाओं को अपनी स्वास्थ्य और शारीरिक आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए ग्रहण के समय अतिरिक्त सतर्क रहने की सलाह दी जाती है।स्वस्थ और सुरक्षित रहने के लिए गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की तिथि और समय की जानकारी पर ध्यान देना चाहिए और उचित सतर्कता बरतनी चाहिए। यदि कोई स्वास्थ्य समस्या हो या संदेह हो, तो चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। यहां आपको और कुछ सलाह दी जाती है:

घर से बाहर ना निकलें: सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए, ताकि सूर्य ग्रहण की छाया तक गर्भ में पल रहे बच्चे पर नहीं पड़े। यह सुरक्षा प्राथमिकता होती है।

READ MORE: Khesari Lal Yadav ने Shilpi Raj के साथ किया जमकर रोमांस, अंग से मिलाया अंग

सूर्यग्रहण ना देखें: सूर्य ग्रहण की किरणों का असर आपकी आंखों पर पड़ सकता है। आपको सूर्यग्रहण ना देखने की सलाह दी जाती है। आप एक आदर्श स्थान पर रहें और ग्रहण के दौरान आपकी आंखें सुरक्षित रखें।

ध्यान और शांति बनाए रखें: सूर्य ग्रहण के दौरान आप ध्यान और शांति बनाए रखने का प्रयास कर सकती हैं। ध्यान तकनीकें जैसे मेडिटेशन, ध्यान, प्राणायाम और योग आपको मदद कर सकता है धार्मिक ग्रंथों का पाठ ग्रहण के समय एक शांतिपूर्ण गतिविधि हो सकती है, जो गर्भवती महिलाओं को मन को शांत करने और ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकती है।

ग्रहण के समय खाना नहीं खाना चाहिए। ग्रहण के दुष्प्रभाव से भोजन भी काफी दूषित हो जाता है। गर्भवती महिलाओं को फल खाने चाहिए।

सूर्यग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को नुकीली चीजों जैसे सुई, कैंची, चाकू, आदि नहीं उपयोग करने चाहिए। कहा जाता है कि इससे गर्भ में पल रहे शिशु पर परेशानी होती है।

हण के दौरान गर्भवती महिलाओं को जागरूक रहना चाहिए और नुकीली वस्तुओं का उपयोग नहीं करना चाहिए। साथ ही स्नान करना और गंगा जल का उपयोग करना भी शुभ माना जाता है।

LATEST POSTS:

पूजा कांजानी ने बैचलर ऑफ़ मास कम्युनिकेशन की पढाई कम्पलीट करने के बाद साल 2019 में उन्होंने डिजिटल मीडिया से अपने करियर की शुरुआत की। उसके बाद उन्होंने एक बड़े मीडिया हाउस में बतौर टीवी ऐंकर भी कार्य किया है। इन 3 वर्षों के करियर में ऑटो-गैजेट्स, लाइफस्टाइल, धार्मिक, फीचर्स तथा राजनीति पर न्यूज़ आर्टिकल लेख लिख चुकी हैं। जनवरी 2023 से बतौर कंटेंट राइटर के तौर पे समाचार नगरी में कार्यरत है.