Hindu history: भारत के इन मंदिरों में चढ़ाया जाता है सबसे अलग प्रसाद , अनूठे वितरण के लिए है प्रसिद्ध

indian-temples

Hindu history: हिंदू धर्म में इश्वर की पूजा व् आराधना करते समय भगवान को प्रसाद अथार्त पवित्र भोग चढ़ाया जाता है. भारत में स्थित प्रत्येक मंदिर का अपना विशेष प्रसाद होता है, इसका अर्थ यह है की प्रत्येक देवता को विशिष्ट प्रकार का प्रसाद चढ़ाया जाता है. ऐसे में भारत में कुछ मंदिर ऐसे है जिनका प्रसाद अपने अनोखेपन के लिए काफी मशहूर है आइये जानते है उन मंदिरों के नाम :

महादेव मंदिर, त्रिशूर

त्रिशूर के मझुवनचेरी स्थित महादेव के मंदिर में कोई खाने की वस्तु नहीं दी जाती है। इस मंदिर में जाने वालों को जानकारीपूर्ण किताबें, ब्रोशर,डीवीडी दिए जाते है कहा जाता है की मंदिर ट्रस्ट के अनुसार माना जाता है की किसी को ज्ञान देना या किसी को जानकारी बढ़ाना सबसे अच्छा प्रसाद है, क्योंकि बाकि प्रसाद तो समाप्त हो जाता है पर ज्ञान जिन्दगी भर बना रहता है। उसको नष्ट करना किसी भी प्रकार से संभव नहीं है।

धनदयुथपानी स्वामी का मंदिर, पलानी
पलानी स्थित मुरुगन का मंदिर अपने अनूठे प्रसाद के लिए काफी प्रसिद्द है। इस प्रसाद को बनाते वक्त पांच फल, गुड़ व मिश्री की मिठाई बनायीं जाती है और इस मिठाई का भोग लगाया जाता है। इस भोग के प्रसाद को पंचामृतम कहा जाता है। कहते है की इस प्रसाद में बहुत अलग ही स्वाद होता है जो इसे अनूठा बनाता है।

ये भी पढ़े: Astro Tips: इस मूलांक के लोग प्यार में होते है अनलकी, आए-दिन होते है झगड़े

अज़गर कोविल, मदुरैया
अज़गर कोविल मदुरै से 21 किलोमीटर दूर है। यह अलागर मंदिर के नाम से भी प्रसिद्ध है, यह मंदिर विष्णु को समर्पित है इस मंदिर में सभी भक्तों को डोसा बांटा जाता है। हां, इस मंदिर में कई भक्त भोग के रूप में अनाज अर्पित करते हैं और इसलिए इन अनाजों से प्रसाद के रूप में कुरकुरा बनाया जाता है।

श्री कृष्ण मंदिर, अम्बालापुझा
तिरुवनंतपुरम स्थित श्री कृष्ण मंदिर में हालाँकि बहुत आम ही प्रसाद दिया जाता है जी हाँ इस मंदिर में दूध, चीनी और चावल से बनाया प्रसाद दिया जाता है पर इस प्रसाद को बाँटने को तरीका बहुत अलग है।

LATEST POSTS:-

सुप्रिया राज को मीडिया छेत्र में लगभग दो सालो का अनुभव है। सुप्रिया दैनिक भास्कर में बतौर एंटरटेनमेंट न्यूज़ कंटेंट राइटर के रूप में काम किया है, उसके बाद कई सारे मीडिया हाउस में फ्रीलान्स भी किया किया है। फरवरी 2023 से समाचार नगरी के साथ जुडी है और यहां (एंटरटेनमेंट, धर्म/अध्यात्म, ज्योतिष, गैजेट, और ऑटो) की खबरों पर काम कर रही हैं। सुप्रिया राज का मकसद लोगों तक बेहतरीन हिंदी स्टोरी पहुंचाना है।