Lucky Plants : घर में यह फूल लगाते ही दूर होगी पैसों की समस्या, एक महीने में बन जायेंगे मालामाल

Lucky Plants: गुड़हल का फूल अपनी ऊर्जा और उपयोगिता के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, इसे धन दौलत और सुख-समृद्धि के लिए भी प्रयोग किया जाता है। कुछ ऐसे उपाय जो गुड़हल के फूल के प्रयोग से आप धन, सुख, समृद्धि और परिवार के सुख में वृद्धि कर सकते हैं, निम्न हैं:

गुड़हल का फूल पूजा के लिए उपयोग किया जाता है। रोजाना सुबह गुड़हल के फूल को ध्यान देकर पूजा करें।

घर में गुड़हल के फूलों को रखने से धन और समृद्धि में वृद्धि होती है।

अगर आप नौकरी के लिए अप्लाई कर रहे हैं, तो गुड़हल के फूल को लाल रंग में रंग कर आवेदन पत्र के साथ भेजें। इससे आपकी नौकरी प्राप्ति में सक्षमता में वृद्धि होती है।

व्यापार के लिए भी, गुड़हल के फूल का उपयोग किया जा सकता है। यदि आप अपने व्यापार के लिए नया उत्पाद लॉन्च कर रहे हैं, तो गुड़हल के फूल को उसकी पूजा के लिए उपयोग करें।

नए काम शुरू करने से पहले गुड़हल के फूलों का उपयोग करें।

नौकरी या व्यापार में सफलता के लिए प्रतिदिन गुड़हल के फूलों को मां दुर्गा और काली को अर्पित करें।

धन की समस्याओं से निपटने के लिए घर में गुड़हल के पौधे लगाएं।

READ MORE: Marriage muhurt: 1 मई से शुरू हो रहे है जमकर शुभ मुहूर्त, इस दौरान विवाह करने से खुल जायेंगे भाग्य

धन की समस्याओं से निपटने के लिए गुड़हल का दूध पीने के लिए आजमाएं।

गुड़हल के फूलों के पानी से नहा लें जिससे आपकी नौकरी, व्यापार और धन की समस्याएं खत्म होंगी। गुड़हल की माला देवी काली की पूजा के लिए उत्तम मानी जाती है। गुड़हल फूल की माला से अधिक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और ध्यान केंद्रित होता है। अष्टमी और अमावस्या अथवा पूर्णिमा के दिनों में गुड़हल फूल की माला बनाने से भी लाभ मिलता है।

आर्थिक परेशानी का सामना कर रहे हैं तो प्रत्येक शुक्रवार को गुड़हल का फूल देवी लक्ष्मी को दें ध्यान रखें कि गुड़हल लाल रंग का होना चाहिए। गुड़हल के फूल के साथ ही मां लक्ष्मी को मिश्री का भोग भी लगाएं।

मान्यता है कि भगवान श्रीकृष्ण और भगवान विष्णु के दर्शन दुःखों से मुक्ति दिलाते हैं और पति-पत्नी के बीच के तनाव को कम करने में मदद करते हैं। गोरोचन का तिलक लगाने से आपका मन शांत होता है और गुड़हल के फूल का उपयोग भगवान को अर्पित करने से आपके मन में शांति और सुख का अनुभव होता है। आप इस उपाय को विधि अनुसार कम से कम 21 गुरुवार तक कर सकते हैं।

LATEST POSTS:

पूजा कांजानी ने बैचलर ऑफ़ मास कम्युनिकेशन की पढाई कम्पलीट करने के बाद साल 2019 में उन्होंने डिजिटल मीडिया से अपने करियर की शुरुआत की। उसके बाद उन्होंने एक बड़े मीडिया हाउस में बतौर टीवी ऐंकर भी कार्य किया है। इन 3 वर्षों के करियर में ऑटो-गैजेट्स, लाइफस्टाइल, धार्मिक, फीचर्स तथा राजनीति पर न्यूज़ आर्टिकल लेख लिख चुकी हैं। जनवरी 2023 से बतौर कंटेंट राइटर के तौर पे समाचार नगरी में कार्यरत है.