ASTRO TIPS FOR ANGER : अगर आपको भी आता है जमकर गुस्सा तो यह नुस्ख़े बना देंगें ज़िन्दगी को खुशनुमा

ASTRO TIPS FOR ANGER: ज्योतिष शास्त्र में कहा जाता है कि क्रोध को जन्म देने वाले ग्रह मंगल होते हैं। अगर किसी व्यक्ति के जन्मकुंडली में मंगल कमजोर होता है तो वह अधिक क्रोधी हो सकता है। इसके लिए ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं जो लोग क्रोध को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।

मंगल के उपाय: ज्योतिष शास्त्र में मंगल को शक्तिशाली ग्रह माना जाता है। इसलिए, व्यक्ति को मंगल के उपाय करने चाहिए। ये उपाय मंगल के मंत्र जप करना, मंगल ग्रह के रत्न धारण करना या मंगल की देवी का पूजन करना हो सकते हैं।

मन को शांत करने का उपाय: क्रोध मन को उत्तेजित करता है इसलिए इसको नियंत्रित करने के लिए मन को शांत करना जरूरी होता है। व्यक्ति को ध्यान योग, प्राणायाम, मन की शांति के उपाय आदि करने चाहिए।

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि ग्रहों के अनुकूल होने से हमारी जीवनशैली में सकारात्मक परिवर्तन होते हैं। गुस्सा या क्रोध अनेक कारणों से हो सकता है, लेकिन ज्योतिष में इसे मंगल ग्रह से जोड़ा जाता है। अगर आपको अधिक गुस्सा आता है तो आप इस उपाय को अपना सकते हैं। इसके लिए, आपको अपने जन्मकुंडली के अनुसार मंगल ग्रह के स्थान और दशा का जानकारी होनी चाहिए।

READ MORE :- Sapna Choudhry Dance Video:सपना चौधरी ने मचाई लाइव स्टेज पर धूम, लग गयी लाखों की भीड़!!

अगर मंगल ग्रह आपकी जन्मकुंडली में अशुभ स्थिति में है, तो आप इस उपाय को कर सकते हैं। सूर्य की उगाई के समय मंगलवार को एक लाल कपड़े में सिन्दूर भरकर उसे भोग लगाकर मंगल मंत्र का जप करें। इसे करने से आपके अंदर शांति आएगी और आपका गुस्सा कम होगा।

इसके अलावा, आप ध्यान और मेधा वृद्धि के उपाय जैसे कि योग, मेडिटेशन, प्राणायाम आदि कर सकते हैं जो आपके मन को शांत करने में मदद करेंगे। चांदी की चंद्राकृति में मोती जड़वा कर बनाए गए लॉकेट को धारण करने से शांति मिलती है। लॉकेट को गले में लगाकर अपनी शांति की ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं।

READ MORE :- गर्भवती महिलाओं को नज़र से बचायेंगे यह टोटके, जच्चा-बच्चा रहेगा स्वस्थ

किचन काउंटर में शीशा लगाने से गुस्से को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। जब आप गुस्से में होते हैं तो आप शीशे में अपनी आवाज को सुनते हैं और अपने गुस्से को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। अमावस्या के दिन पितरों के नाम गायत्री मंत्र का जप करने से पितरों को शांति मिलती है। आप अमावस्या के दिन गायत्री मंत्र का जप करके पितरों की आत्मा को शांति दे सकते हैं।

LATEST POSTS:

पूजा कांजानी ने बैचलर ऑफ़ मास कम्युनिकेशन की पढाई कम्पलीट करने के बाद साल 2019 में उन्होंने डिजिटल मीडिया से अपने करियर की शुरुआत की। उसके बाद उन्होंने एक बड़े मीडिया हाउस में बतौर टीवी ऐंकर भी कार्य किया है। इन 3 वर्षों के करियर में ऑटो-गैजेट्स, लाइफस्टाइल, धार्मिक, फीचर्स तथा राजनीति पर न्यूज़ आर्टिकल लेख लिख चुकी हैं। जनवरी 2023 से बतौर कंटेंट राइटर के तौर पे समाचार नगरी में कार्यरत है.