केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन दिए जाने की घोषणा कर दी है। इस बीच, बिहार में अब टीकाकरण को लेकर सियासत प्रारंभ हो गई है।

भाजपा के नेता सुशील मोदी ने बुधवार को मुफ्त टीका देने की सलाह दी तो कुछ ही घंटों के बाद बिहार सरकार ने मुफ्त टीका देने की घोषणा कर दी। इस बीच, राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने इसकी योजना पूछते हुए कहा कि बिहार में सम्पूर्ण टीकाकरण करने में 8-9 साल लग जाएंगे।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को विधानसभा चुनाव के पहले मुफ्त टीकाकरण के वादे को याद दिलाते हुए राज्य सरकार से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को भी मुफ्त में टीका दिए जाने का आग्रह किया था।

इसके बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की कि 18 वर्ष और इससे ऊपर के सभी बिहार के लोगों को कोरोना टीकाकरण राज्य सरकार मुफ्त में कराएगी। इस घोषणा के बाद सत्ताधारी दलों ने मुख्यमंत्री के इस घोषणा का स्वागत किया।

इधर, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सरकार से योजना के बारे में पूछा है। उन्होंने मुफ्त टीकाकरण के लिए सरकार को शुक्रिया कहते हुए कहा कि विपक्ष की वजह से ही सही लेकिन देर आए दुरुस्त आए।

उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा, “सर्वविदित है आपकी कथनी और करनी में हमेशा भारी फर्क रहा है। जानना चाहता हूं कि लगभग 10 करोड़ आबादी के टीकाकरण का आपके पास क्या समग्र प्लान है? या फिर 19 लाख नौकरी-रोजगार की तरह इसे भी कोरी ‘घोषणा’ मात्र ही समझा जाए?”

उन्होंने कहा कि अबतक राज्य में 4 महीनों में मात्र 4 प्रतिशत लोगों को टीका दिया गया है। इस गति से अगर टीकाकरण अभियान चलता रहा तो सम्पूर्ण टीकाकरण करने में 8-9 साल लग जाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.