Bengal Election 2021: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बुधवार को पूर्वी मिदनापुर के नंदीग्राम में कथित तौर पर हमला किया गया। बनर्जी को कोलकाता ले जाया गया, क्योंकि उन्हें पैर में चोट लगी है। उन्होंने कहा, “लगभग चार पांच पुरुष थे जिन्होंने इसे किया .. देखें कि यह कैसे सूज गया है .. उन्होंने अपने पैरों की ओर इशारा करते हुए कहा।”

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यह एक ‘साजिश’ थी।

यह पूछे जाने पर कि क्या यह साजिश है, तृणमूल सुप्रीमो ने कहा, “बेशक यह एक साजिश है .. मेरे आसपास कोई सुरक्षाकर्मी नहीं था।”

तृणमूल सांसद सुखेंदु शेखर रे ने घटना के संबंध में एक बयान जारी कर कहा, “कल (मंगलवार) नंदीग्राम ब्लॉक -1 के लोगों से व्यापक रिस्पांस के बाद, ममता बनर्जी ने हल्दिया में नामांकन दाखिल करने के बाद नंदीग्राम ब्लॉक 2 के कई स्थानों का दौरा किया। उन्होंने एक और मंदिर में पूजा की।”

रे ने कहा, “हर जगह लोगों ने बड़े पैमाने पर रिस्पांस दिया। लगभग 6.15 बजे, जब वह एक मंदिर में पूजा करने के बाद बिरुलिया अंचल को छोड़ने वाली थीं, कुछ अज्ञात लोगों ने उन्हें कार में धकेल दिया और जबरदस्ती दरवाजा बंद कर दिया, जिसके परिणामस्वरूप उनके बाएं पैर में चोट लगी और कमर में भी तेज दर्द हुआ। इसके बाद वो उचित इलाज के लिए कोलकाता चली गईं।”

वह गुरुवार को कोलकाता लौटने वाली थीं, लेकिन तुरंत राज्य की राजधानी ले जाया गया।

एसयूवी की अगली सीट पर बैठी परेशान दिखने वाली बनर्जी ने अपने काफिले के कोलकाता रवाना होने से ठीक पहले मीडिया से बात की।

इससे पहले, नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र की सीट के लिए अपने पर्चे दाखिल करने के बाद, बनर्जी ने हल्दिया में दो किमी लंबे रोड शो में भाग लिया। उनके साथ पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुब्रत बख्शी भी थे।

बिरुलिया आंचल में हुई घटना के बाद, सूत्रों ने कहा कि बैनर्जी को तुरंत कोलकाता वापस जाने से पहले, रेपारा में उनके अस्थायी निवास पर ले जाया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.