कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच आज मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल समेत तीन शहरों में एक दिन का लॉकडाउन लगाया गया है. मध्य प्रदेश के तीनों शहरों- भोपाल, इंदौर और जबलपुर में शनिवार रात 10 बजे से कल सुबह छह बजे तक कुल 32 घंटे के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. इस दौरान अस्पताल ,मेडिकल ,दमकल जैसे इमरजेंसी सेवाओं को ही छूट दी गई है.

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने अगले आदेश तक हर रविवार को भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लॉकडाउन का आदेश दिया है. इसके साथ ही अब हर शनिवार को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू (Night curfew भी लगा रहेगा. इसके अलावा इन तीनों शहरों के सभी स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद रहेंगे .प्रशासन ने तीनों शहरों में लॉकडाउन के दौरान धारा 188 लागू की है. इसके मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति बिना कारणवस घर से बाहर निकला तो सीधे गिरफ्तार होगा.

संक्रमण से बचाव के लिए इन तमाम कड़े कदमों के साथ साथ शिवराज सरकार लोगों को जागरूक करने का भी अभियान चलने जा रही है . इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी हैं. मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा हैं “23 मार्च को शाम को 7 बजे भी दो मिनट के लिए सायरन बजेगा और हम पुनः यह सुनिश्चित करेंगे कि हमने और हमारे आसपास के लोगों ने मास्क लगाया है या नहीं. मास्क लगाना बहुत ज़रूरी है, इसलिए यह संकल्प अभियान हम शुरू कर रहे हैं. स्थिति हाथों से बाहर निकले, इसके पहले ही हम संभल जाएँ”.

इससे पहले भी मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा था “23 मार्च को सुबह 11 बजे मध्यप्रदेश के सभी शहरों में सायरन बजेगा. जो जहाँ है, वहीं दो मिनट खड़े रहकर मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाने का संकल्प लेगा.दुकानदारों से भी अपील करता हूँ कि वे अपनी दुकानों के सामने दूरी रखने के लिए गोले बनाएँ। गोले बनाने मैं भी निकलूंगा”.

बता दे कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह लगातार संक्रमण के मामलों को रोकने के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं. साथ ही लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने कि अपील भी कर रहे हैं . उन्होंने इससे पहले भी ट्वीट करते हुए लोगों से तमाम एहतियात बरतने कि अपील कि थी .

Leave a comment

Your email address will not be published.