Ram Mandir 2024: जानिए क्या है राम भक्तों के लिए अयोध्या का मतलब, राम, राजनीति, या मर्यादा

ram-mandir

Ram Mandir 2024: आज की तारीख और दिन सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा, इसमें कोई संदेह नहीं है। ये सभी जानते है की 22 जनवरी 2024 दिन सोमवार को अयोध्या राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की गई है। जिसका मतलब है की अब अयोध्या में 500 साल से टेंट में रह रहे हमारे रामलला के लिए मंदिर बन गया है। दोपहर 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकेंड से लेकर 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकेंड तक पूजा का शुभ महुर्त था। ये सारी बाते आपको बतानी जरूरी थी ताकी आगे की कहानी जब पढ़े तो आपको कोई सदेंह या मन में सवाल पैदा ना हो।

अयोध्या कहें या प्रभू श्री राम का घर या मां सीता का ससुराल या राजा दशरत का समराज्य। लेकिन अगर किसी राम भक्त से पूछेंगे की अयोध्या मतलब क्या? उसका जवाब होगा अयोध्या मतलब राम राम मतलब मर्यादा मर्यादा मतलब त्याग त्याग मतलब लक्ष्मण, लक्ष्मण मतलब भरत इतने में आप सोचेंगे की लक्ष्मण मतलब भरत ये कैसे हो सकता है।

बस इसी वजह से वो राम भक्त है और हम एक ऐसे लोग जो आधा अधूरा ज्ञान लेकर ऐसा बताते है जैसे राम जी के साथ गिल्ली डंडा खेला हो। जैसे राम जी के लिए लक्ष्मण जी ने उनका साथ नहीं छोड़ा ठीक वैसे ही राज पाठ मिलने के बाद भी भरत जी ने प्रभू श्री राम जी के खराऊ को राजा माना और गद्दी पर नहीं बैठे।

वक्त बदला और साल 2024 आया जिसमें प्रभू श्री राम का मंदिर बनकर तैयार हुआ। आपको इतना पढ़ने के बाद ये एहसास हो रहा होगा की अयोध्या मतलब राम कैसे और राम मतलब मर्यादा कैसे। भले ही वर्तमान समय में कुछ लोगों का कहना है की मंदिर बनाने के पीछे राजनीतिक लाभ है। लेकिन राम भक्तों ने इसका भी जवाब दिया है। उनका कहना है की चलो मान लिया की राम मंदिर राजनीतिक लाभ है तो ये लाभ आप भी उठा सकते थे, लेकिन आपने नहीं उठाया। हमें तो सिर्फ हमारे रामलला से मतलब है।