Delhi: बुधवार को दिल्ली पुलिस ने 24 वर्षीय एक महिला को अपने लिव-इन पार्टनर के बेटे की कथित तौर पर हत्या और उसके शव को बेड बॉक्स में छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आरोपी की पहचान पूजा कुमारी के रूप में हुई है। पूजा रणहोला की रहने वाली है और उसने 10 अगस्त को अपने लिव-इन-बॉयफ्रेंड जितेंद्र के 11 साल के बेटे दिव्यांश की हत्या की थी। पुलिस ने बताया कि पूजा का मानना था कि जितेंद्र दिव्यांश के कारण अपनी पत्नी को तलाक़ नहीं दे रहा है।

गुरुवार रात करीब 8.30 बजे पुलिस को जानकारी मिली कि एक लड़के को मृत अवस्था में बीएलके अस्पताल लाया गया है और उसकी गर्दन पर गला घोंटने के निशान हैं। इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की जांच की गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि “11 वर्षीय लड़के के घर जाने वाली आखिरी व्यक्ति महिला पूजा कुमारी थी।” 

मिली जानकारी के अनुसार, दिव्यांश अपने घर में सो रहा था, तभी आरोपी पूजा ने उसका गला घोंट दिया। फिर उसने दिव्यांश के शव को बिस्तर के अंदर छिपा दिया। विशेष पुलिस आयुक्त (अपराध) रवींद्र सिंह यादव ने कहा कि पुलिस ने 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की, जिससे उसकी गिरफ्तारी हुई।

पुलिस के अनुसार, आरोपी पूजा और जितेंद्र ने 17 अक्टूबर 2019 को आर्य समाज मंदिर में शादी की थी। “चूंकि जितेंद्र पहले से ही शादीशुदा था और उसका एक बेटा भी था, इसलिए उसने पूजा को आश्वासन दिया कि वो अपनी पत्नी से तलाक लेने के बाद कोर्ट में उससे शादी करेगा। जितेंद्र और पूजा किराए के मकान में एक साथ रहने लगे। इसी बीच पत्नी को तलाक देने की बात पर जितेंद्र और पूजा के बीच झगड़ा शुरू हो गया। कुछ समय बाद जितेंद्र ने अपनी पत्नी से तलाक लेने से इनकार कर दिया।” अधिकारी ने कहा।

पुलिस ने बताया कि कुछ समय बाद जितेंद्र किराए का घर छोड़कर अपनी पत्नी के साथ रहने लगा। वह पिछले साल दिसंबर में बाहर चला गया था और पूजा इस बात से नाराज थी। पुलिस ने कहा कि उसने मान लिया कि जितेंद्र ने अपने बेटे की वजह से उसे छोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि गुरुवार को पूजा अपने दोस्त की मदद से जितेंद्र के घर गई। 

वो जेजे कॉलोनी, इंद्रपुरी (जितेंद्र के घर) पहुंची जहां दरवाजा खुला था और दिव्यांश उर्फ ​​बिट्टू सो रहा था। पूजा ने दिव्यांश की हत्या करने के बाद बिस्तर से कपड़े निकाले और लड़के को बिस्तर के अंदर डाल दिया और दरवाजा बंद करके मौके से फ़रार हो गई।

हालांकि पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत नई दिल्ली के इंद्रपुरी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया है। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *