Samachar Nagari(Mumbai): एक बार फिर से बिग-बी यानी की श्री अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) भारत की शान को बढ़ाया है. उन्हें इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म आर्काइव (FIAF) के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है. यह अवॉर्ड उन्हें फिल्म संरक्षण के काम को बढ़ावा देने के लिए मिला है. सदी के महानायक ने सोशल मीडिया (Social Media) पर अवॉर्ड सेरेमनी से अपनी कुछ फोटोज फैंस के साथ शेयर कर फेडरेशन ऑफ फिल्म आर्काइव(FIAF), अमेरिकन फिल्म प्रोड्यूसर डायरेक्टर मार्टिन स्कॉर्सेसी(Martin Scorsese) और फिल्म लेखक क्रिस्टोफर नोलन(Christopher Nolen) और अन्य सबों का शुक्रिया अदा किया.

साथ ही आप ये भी जान ले की अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) पहले भारतीय हैं, जिन्हें यह अवॉर्ड दिया गया है. 19 मार्च शुक्रवार को एक वर्चुअल सेरेमनी(Virtual Ceremony) में इस अवॉर्ड से बिग बी को सम्मानित किया गया. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा- FIAF अवॉर्ड 2021 पाने पर मैं बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूं. आज समारोह में मुझे पुरस्कार देने के लिए मैं FIAF, मार्टिन स्कॉर्सेसी(Martin Scorsese) और क्रिस्टोफर नोलन(Christopher Nolen) का शुक्रिया अदा करता हूं. भारत की फिल्म विरासत को बचाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता अटल है. फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन(Heritage Foundation) हमारी फिल्मों को बचाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी आंदोलन बनाने के अपने कोशिशों को जारी रखेगा. हम सब आपके आभारी हैं.

मार्टिन स्कॉर्सेसी और क्रिस्टोफर नोलन भी प्रोग्राम में मौजूद थे. अमिताभ का नाम इस अवॉर्ड के लिए फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन द्वारा नामांकित किया गया था. जिनमे मार्टिन स्कॉर्सेसी(Martin Scorsese) और क्रिस्टोफर नोलन(Christopher Nolen) भी मौजूद थे.फिल्म हेरिटेज एक गैर सरकारी संस्था(Private Company) है, जो फिल्मों के रजिस्ट्रेशन और फिल्म विरासत के अध्ययन पर काम करती है. अवॉर्ड सेरेमनी में मार्टिन स्कॉर्सेसी ने अमिताभ की तारीफ करते हुए कहा कि 5 दशक के लंबे करियर में अमिताभ बच्चनन ने फिल्म विरासत को संरक्षित करने में असाधारण काम किया है. फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन के बाद से मैं भारत में फिल्मों के संरक्षित किए जाने पर नजर रख रहा हूं. मैं बहुत अच्छे तरीके से जानता हूं कि अमिताभ बच्चन इस ओर किस कदर काम कर रहे हैं. मैं अमिताभ बच्चन को बधाई देना चाहूँगा. आप ऐसे ही हिन्दी सिनेमा को आगे ले जाए.

Leave a comment

Your email address will not be published.