बॉलीवुड अभिनेत्री और मिर्जापुर से हुई फेमस श्रिया पिलगांवकर (Shriya Pilgaokar) का कहना है कि इंडस्ट्री में लिंग के आधार पर सैलरी में किए जाने वाले भेदभाव को खत्म करने पर काम करना चाहिए। ‘हाथी मेरे साथी’ में नजर आने वाली श्रिया का कहना है कि उन्होंने अभिनेत्रियों को इस मुद्दे पर चर्चा करते हुए सुना है कि हीरो को एक फिल्म के लिए इतना पैसा दिया जाता है जितना नायिका-केंद्रित फिल्म का पूरा बजट होता है।

उन्होंने बताया, “मैंने बड़ी अभिनेत्रियों की बातचीत सुनी है कि उनकी पूरी फिल्म का बजट जितना था, उतना मेल एक्टर्स को सैलरी दिया जाता है।” श्रिया कहती हैं कि भले ही आपको यह पता न हो कि आपका सह-अभिनेता कितना कमा रहा है, लेकिन आप फिल्म की प्रगति के आधार पर इसका अनुमान लगा सकते हैं।

वह आगे कहती हैं, “मुझे नहीं पता कि मेरे सह-अभिनेताओं को कितना पैसा मिलता है, लेकिन इसका अंदाजा तो है। व्यक्तिगत स्तर पर, मैंने तय किया है कि मैं अपनी क्षमताओं के आधार पर अच्छी डील करूं। मुझे लगता है कि अपने लिए खड़े होना जरूरी है। जब समय के साथ लोग अपने लिए स्टैंड लेंगे तो चीजें बेहतर हो जाएंगी। फिर भी हमें व्यक्तिगत स्तर पर यह समझने की जरूरत है कि यदि हम खुद को महत्व नहीं देंगे, तो कोई और भी नहीं देगा।”

श्रिया को ‘हाउस अरेस्ट'(House Arrest) और ‘फैन’ (Fan) जैसी फिल्मों में देखा गया है। इसके अलावा वे ‘द गॉन गेम’ (The Gone Game), ‘क्रैकडाउन’ (Crackdown), ‘बीचम हाउस'(Becham House), और ‘मिजार्पुर’ (Mirzapur) जैसे शो में भी नजर आ चुकी ह

Leave a comment

Your email address will not be published.