JEE-MAIN परीक्षा में हूई छेड़छाड़, जानिए क्या परीक्षा होगी रद्ध या रिजल्ट में होगी देरी ?

JEE-MAIN एक ऐसी परीक्षा है जिस के लिए छात्र सालों से महनत करतें है जिससे उनको उच्च-स्तरीय पढ़ाई के लिए एक अच्छा कॉलेज मिल सके, लेकिन ऐसी लापरवाही की वजह से छात्रों को निराशा ही हाथ लगती है।

0
JEE MAIN LATEST NEWS

नई दिल्ली: JEE MAIN परीक्षा जो NTA (नैशनल टेस्टिंग एजेन्सी) द्वारा चार बार (फ़रवरी, मार्च, अप्रैल, मई) आयोजित करायी जाती है। क्वालिफ़ायइंग छात्र को अनेक प्रसिद्ध इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश मिलता है। JEE MAIN परीक्षा विवादों के घेरे में आई है, हालहीं में खबर आई की परीक्षा केंद्रों पर हेराफेरी कि जा रही थी और किसी प्राईवेट संगठन द्वारा डिवाइसो में छेड़छाड़ और हैक किया गया है।
आपको बता दें कि JEE-MAIN एक ऐसी परीक्षा है जिस के लिए छात्र सालों से महनत करतें है जिससे उनको उच्च-स्तरीय पढ़ाई के लिए एक अच्छा कॉलेज मिल सके, लेकिन ऐसी लापरवाही की वजह से छात्रों को निराशा ही हाथ लगती है।

यह भी पढ़े: Supreme Court ने CBI से मांगी ‘सफलता दर’

सीबीआई द्वारा जांच से पता चला कि संगठन के लोग छात्रों से परीक्षा केंद्र चुनने के लिए कहतें थो जिसमें वे पहले से हेरफेर कर के रखते थें और छात्रों को प्रवेश परीक्षा से दूर करने का प्रयास किया जाता था और फिर वे खुद परिक्षा देने जाते थे। ऐसी लापरवाही को देखते हुए, सी.बी.आई ने हरियाणा के सोनीपत में एक ऐसे परीक्षा केंद्र की पहचान कि जो शक के दायरे में आ रहा था। आपको बता दें कि अभी छान-बीन सी.बी.आई द्वारा जारी है और इसी के साथ 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकि लोगों से पूछताछ का सिलसिला चल रहा है।

एक इंटरव्यू में बताया गया कि परीक्षा रद्ध होने कि उम्मिद कम है क्योंकि कोरोना महामारी कि वजह से पहले ही शैक्षिक पाठ्यक्रम में देरी हो गई है। ऐसे मामलों में, पिछले किसी भी सत्र में छात्रों द्वारा प्राप्त किए गए उच्चतम अंकों पर विचार किया जा सकता है। चौथे प्रयास को ध्यान में रखते हुए, छात्र अपने स्कोर में सुधार के लिए कई प्रयासों के लिए उपस्थित हुए थे, इससे इस कदम से प्रभावित छात्रों की संख्या कम हो सकती है। हालांकि, ऐसे छात्र भी हो सकते हैं जिनके उच्चतम अंक उक्त रद्द किए गए प्रयास में रहे होंगे, ऐसे छात्रों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

हालांकि NTA ने अधिकारिक तौर पर अभी कोई फैसला नहीं लिया है। छात्रों को जांच पूरी होने तक और अधिकारिक फैसले का इंतजार करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here