पंजाब: कोविड की दुसरी लहर के बाद अब धीरे-धीरे जिंदगी नोर्मल होने लगी है। इसी को देखते हुए अब राज्य सरकारें स्कूल खोलने कि प्रक्रिया भी शूरु करने जा रही है। पिछले करीब डेढ़ साल से कोविड महामारी की वजह से स्कूल-कॉलेज बंद है और बच्चो की पढ़ाई ऑनलाइन तरीके से चल रही है। जिसमे बच्चों का भी नुकसान हो रहा है क्योंकि प्रेक्टिकल चीज़े ऑनलाइन सही तरीके से समझ नहीं आती है।

बात करें पंजाब की तो राज्य शिक्षा Vijay Inder Singla ने बीते रविवार को कहा की पंजाब राज्य में प्री-प्राइमेरी छात्रों की ऑफलाइन क्लास सोमवार(2-August) से शुरू कर दी जाएंगी जबकि कक्षा 10-12वीं के लिए स्कूल पहले ही खोल दीए गए थे। सिंगला ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “कोविड की मौजूदा स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की मंजूरी के बाद शिक्षा विभाग 2 अगस्त से सभी कक्षाओं के लिए स्कूलों को फिर से खोलने के लिए तैयार है।” मंत्री ने कहा कि स्कूलों का समय वही रहेगा, जो सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक है। उन्होंने कहा कि अभिभावकों को अपने बच्चों को स्कूलों में भेजने से पहले लिखित सहमति देनी होगी और बच्चों को सखत तरीके से कोविड के प्रोटोकॉल माननी होगी। इसी के साथ सिंगला ने कहा की अब बच्चों के लिए स्कूल खोलना बहुत आवश्यक हो गया है।

इसी के साथ अब उत्तर प्रदेश सरकार कोविड प्रोटोकॉल के तहत स्कूल खोलने की तैयारी कर रही है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 16 अगस्त से स्कूल खोलने की मंजूरी दे दी है। यह फैसला लोक सभा की एक बैठक मे लिया गया है जिसमे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल थे। बच्चों का मास्क पहन ना, दो गज की दुरी का पालन करना जरुरू होगा और अभिभावकों की लिखित सहमती जरुरी होगी बिना लिखित सहमती के छात्र स्कूल नहीं आसकते।

ANI ने ट्वीट किया, “राज्य में इंटरमीडिएट स्कूल 16 अगस्त से 50% क्षमता के साथ फिर से खुलेंगे। कॉलेज और विश्वविद्यालय 1 सितंबर से फिर से खुलेंगे। राज्य सरकार ने 5 अगस्त से कॉलेजों / विश्वविद्यालयों में छात्रों के लिए प्रवेश की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं।”

Leave a comment

Your email address will not be published.