Uttarpardesh Board Exam: उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद यानी यूपी मदरसा शिक्षा बोर्ड (UP Madrasa Education Board) ने भी कक्षा 10 और 12 की परीक्षा को रद्द कर दिया है। प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ (Minority Welfare Minister Nand Gopal Gupta ‘Nandi’) ने मंगलवार को इसका निर्देश दिया है। मंत्री नंदी ने ट्वीट कर जानकारी दी कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न असाधारण परिस्थितियों के दृष्टिगत छात्र हित में शिक्षा सत्र को नियमित करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग व माध्यमिक शिक्षा विभाग की भांति उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद द्वारा संचालित मदरसों एवं विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र-2020-21 के लिए कक्षा-10 एवं कक्षा-12 की बोर्ड परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय किया गया है।

इसी कारण सत्र को नियमित करने के लिए उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग व माध्यमिक शिक्षा विभाग की तर्ज पर उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद से संचालित मान्यता प्राप्त/ राज्यानुदानित मदरसों/विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए कक्षा 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षा को निरस्त करने तथा कक्षा 1 से 8 (तहतानिया/ फौकानिया) तक एवं कक्षा नौ व 11 के छात्र/छात्राओं को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने का निर्णय लिया गया है। इस संबंध में बेसिक शिक्षा विभाग तथा माध्यमिक शिक्षा विभाग से समय-समय पर निर्गत शासनादेशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा।

मंत्री ये भी कहा कि उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की ओर से प्रस्तावित शैक्षणिक सत्र 2020 की बोर्ड परीक्षाओं में कक्षा 10 एवं कक्षा 12 के पंजीकृत छात्र छात्राओं के परीक्षाफल को तैयार करने एवं परीक्षाफल अंकों के अभिलिखित करने की प्रक्रिया एवं आधारों के संबंध में अलग से आदेश निर्गत किए जाएंगे। इससे पहले, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के रद्द होने के बाद उत्तर प्रदेश में कॉलेज छात्रों की 2021 की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। राज्य सरकार ने लगभग 30 लाख स्नातक और परास्नातक छात्रों को प्रमोट करने का फैसला किया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.