नई दिल्ली: कोविड महामारी के चलते देश भर के सारे स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया था। अभी तक कई राज्यों में सिर्फ स्कूलों को ही 50% क्षमता के साथ खोलें गए थे लेकिन कॉलेजों की बात करें तो हाल ही में दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) ने एक बड़ा निर्णय लिया है। बता दें विश्वविद्यालय ने अभी तक सारे पाठ्यक्रमों के सभी ग्रैजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट के छात्रों के लिए कक्षाओं को ऑनलाइन मोड पर जारी कर रखा था लेकिन अब कोविड महामारी के दौरान ही DU ने फिर से कॉलेजों को खोलने का फैसला लिया है।

दरअसल साइंस के ग्रैजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट पाठ्यक्रमों के लिए 16 अगस्त से कॉलेजों को खोलने की घोषणा कर दी गई है। DU ने www.du.ac.in पर नोटिस जारी करके कुछ कोविड प्रोटोकॉल से जुड़े दिशा निर्देशों के बारे में भी बताया है। आपको बतो दें अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए ही कॉलेज खोलें जाएंगे क्योंकि द्वितीय वर्ष और प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए अभी सेमेस्टर शुरू नहीं हुआ है इसलिए छात्रों के लिए प्रवेश नहीं हुआ हैं।

इस पर रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने कहा है कि “हमने फैसला किया कि विज्ञान के छात्र विशेष रूप से लौट सकते हैं क्योंकि उन्हें कक्षाओं और प्रयोगशालाओं में होने के अनुभव की आवश्यकता है और विज्ञान के छात्र विश्वविद्यालय में सभी छात्रों का केवल 25% हिस्सा बनाते हैं, इसलिए मुझे नहीं लगता कि आवास कोई समस्या होगी। जहां तक ​​संभव होगा उन्हें कॉलेज और विश्वविद्यालय के छात्रावासों में ठहराया जाएगा, लेकिन हम यह गारंटी नहीं दे सकते कि सभी छात्रों को यह मिलेगा और पीजी में भी आवास मिलेगा, जहां सामान्य से कम लोड होगा और आपूर्ति मांग से कहीं अधिक होगी,” यह तो कॉलेज की तरफ से कहा गया है और शिक्षकों ने इस पर खेद व्यक्त करतें हुए कहा है कि, “यह लिखना आसान है कि सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए लेकिन यह कैसे सुनिश्चित किया जाए कि उनका पालन किया जाए या वास्तव में उनका पालन किया जा सकता है।”

आपको बता दें DU Admission के लिए 2 अगस्त, 2021 से ऑनलाइन पंजीकरण की शुरुआत हो चुकी है। यह पोर्टल 31 अगस्त तक ऑन रहेगा। इस साल भी यूजी में प्रवेश के लिए मेरिट लिस्ट और कट ऑफ की प्रक्रिया रखने का निर्णय लिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.