विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा चीन के वुहान में COVID-19 यानी कोरोना का जन्म हुआ और वही से पूरे दुनिया में फैला। अब उसकी जांच के लिए भेजी गई वैज्ञानिकों की एक टीम एक महीने की जांच कर रही है और प्रकोप में वुहान सीफूड बाजार की भूमिका के बारे में “महत्वपूर्ण सुराग” पाया है।

जांचकर्ताओं ने कहा कि वे महत्वपूर्ण रिजल्ट पर आए हैं, जिसे उन्होंने आधिकारिक रिलीज करने से इनकार किया है। पूरे मिशन का उद्देश्य यह समझना था कि वायरस जानवरों से मनुष्यों तक कैसे पहुंचता है।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार, न्यूयॉर्क स्थित जूलॉजिस्ट डॉ। पीटर दासज़क, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा प्रायोजित मिशन की सहायता कर रहे हैं, ने कहा कि उन्हें अनुमान है कि मुख्य रिजल्ट उनके 10 फरवरी को वापस आने से पहले जारी किए जाएंगे।

वुहान के केंद्रीय शहर से, जहां कोरोनोवायरस दिसंबर 2019 में शुरू हुआ था, बोलते हुए, दसज़क ने कहा कि 14-सदस्यीय समूह ने चीन में विशेषज्ञों के साथ काम किया और “जो हुआ उसके बारे में कुछ वास्तविक सुरागों को उजागर करने के लिए प्रमुख गर्म स्थानों और अनुसंधान केंद्रों का दौरा किया।

बाद की जांच के आधार पर, शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस के जन्म के बारे में गहन जानकारी प्राप्त की है जिसके कारण दुनिया भर में 10 करोड़ से अधिक संक्रमण और 23 लाख से अधिक मौतें हुई हैं। विशेष रूप से, शोधकर्ता अब सब कुछ एक साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं। सीफूड मार्केट के अंदर पर्यावरण के नमूने लेने वाले चीन के वैज्ञानिकों ने कुछ ऐसे स्थानों की भी पहचान की, जहां SARS-COV-2 के निशान पाए गए थे।

शोध के बीच, यह भी संदेह था कि वायरस वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से बच गया है, जो एक अधिकतम जैव-युक्त प्रयोगशाला है जहां बल्ले से होने वाली बीमारियों का अध्ययन किया जाता है। हालांकि, वैज्ञानिकों ने इस सिद्धांत का खंडन किया है।

वाशिंगटन पोस्ट ने बताया कि इस बीच, डेनमार्क के डब्ल्यूएचओ खाद्य सुरक्षा विशेषज्ञ पीटर बेन एम्बरेक ने कहा कि उनका समूह इस सिद्धांत पर आगे की जांच की सिफारिश नहीं करेगा कि वायरस गलती से कोरोनोवायरस अनुसंधान करने वाली प्रयोगशालाओं से लीक हो गया था।

विशेषज्ञ टीमों ने कुछ वास्तविक सुरागों पर हाथ रखा है कि क्या हुआ और दुनिया के सामने एक ठोस स्पष्टीकरण और सबूत के साथ खुलासा किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.