Uttarpardesh News: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविधालय (Aligarh Muslim University) में कोरोना से हो रही मौतों ने लोगों को चौंका दिया था, फिर इसकी वास्तविक जांच हुई जिसमें बड़ा खुलासा हिआ है. इस र‍िपोर्ट (In this Report) में बताया गया है क‍ि कोरोना से हुई मौत का आंकड़ा बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया और वहां से आ रही खबरे भ्रामक थी. सूत्रों के मुताबिक, एएमयू (AMU) में कोरोना की वजह से हुई मौत की रिपोर्ट सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) तक पहुंची है और पीएम को दी गई रिपोर्ट और वहां हुई जांच के बाद पता चला है कि पहले जो भी ऑकड़े अखबारों में या टीवी पर दिये जाते थे वे बिलकुल झुठ थे उसमें सच्चाई नहीं थीं.

जांच होने के बाद पता चला कि वहां हुई मौतों में कई लोग ऐसे थे जो लंबे समय से सेवानिवृत्त प्रोफेसरों थे. उनके नाम को भी शामिल किया गया, जो अलीगढ़ में रहते तक नहीं थे. उनमें से ज्यादातर लोगों की दिल के दौरे और स्ट्रोक से मौत हुई. जांच में पाया गया कि उनमें से केवल 16 लोगों की मौत कोविड (Covid-19) की वजह से हुई, जिनमें से 9 की मौत जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल, एएमयू में 3 की और शहर के निजी अस्पतालों में और 4 की मौत शहर के बाहर हुई है. यानी कि जो डाटा पहले दिया जा रहा था उसमें बिलकुल भी सच्चाई नहीं थी.

साथ ही आपको यह भी ख़बर दें दें कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हाल ही में कोविड या कोविड जैसे लक्षणों के कारण कुछ प्रोफेसरों समेत वर्तमान और पूर्व कर्मचारियों की मौत की खबर आई थी, जिससे राज्य में एक दहश्‍त का माहौल था. मामला देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संज्ञान में भी आया. पीएम ने खुद इस मसले की गंभीरता को समझते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति से बात की और आश्वस्त किया कि सरकार के तरफ से हर संभव मदद और सहायता उप्लब्ध कराई जाएगी. पीएम के हस्तक्षेप के बाद विश्वविद्यालय परिसर में हर तरह की सुबिधा को काफी बढ़ा दी गईं थीं. सूत्रों के मुताबिक, पीएम ने राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को विश्वविद्यालय जाकर हालात की समीक्षा और हर संभव मदद करने को कहा था. प्रधानमंत्री के निर्देश पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्वविद्यालय का दौरा किया और कोविड मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध सुविधाओं का जायजा लिया. योगी आदित्यनाथ ने वहां इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया और कोविड पॉजिटिव मरीजों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं की भी समीक्षा की. विश्वविद्यालय दौरे पर सीएम ने कुलपति और विश्वविद्यालय के अन्य सदस्यों से भी मुलाकात की. विश्वविद्यालय में हुई मौत के मामले की गंभीरता को देखते हुए एक जांच भी बिठा दी. विश्वविद्यालय में हुई मौत की रिपोर्ट सामने आई है और रिपोर्ट में पाया गया कि विश्वविद्यालय परिसर में हुए मौत को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया है. जब उनमें से सारी मौतें कोविड के वजह से नहीं हुई थी.

इस जांच के सामनें आने से पीएम नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के लिए बड़ी राहत वाली खबर है, क्योंकि जिस तरीके से इस यूनवर्सिटी में कोरोना की वजह से मौत की खबरें बाहर आ रही थी, राज्य से लेकर केंद्र इस मसले पर चिंतित दिखाई दे रहा था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से खासा लगाव रहा है. AMU को वह काफी मुख्य यूनिवर्सिटी मानते हैं

Leave a comment

Your email address will not be published.