सागर धनखड़ हत्याकांड में सुशील कुमार के खिलाफ गवाहों के जान को खतरा है | पुलिस ने कोर्ट से सुरक्षा का गुहार लगाया है, 4 मई की रात वारदात के समय तीन और साथी थे, जो गवाह के रूप में सामने आए थे | सुशील और उसके साथी गवाहों और पीड़ितों को नुकसान पहुंचा सकते हैं| इसके लिए दिल्ली पुलिस ने गवाहों और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए दिल्ली हाईकोर्ट से मांग की| पुलिस ने कहा कि सुशील कुमार और उसके साथी का पहले से ही क्रिमिनल रिकॉर्ड रहा है उनके कई गैंग से संबंध हैं |और कहा कि आरोपी सुशील कुमार अंतरराष्ट्रीय पहलवान है, उसके पास पैसा है रसूखदार और प्रभावशाली इंसान भी है लिहाजा सुशील कुमार और उसके साथी गवाहों और पीड़ितों को नुकसान पहुंचा सकते हैं | सुशील और उसके साथियों ने गवाहों और पीड़ितों को लाठी-डंडे ,हॉकी, बेसबॉल से पिटाई की थी| और जान से मारने की धमकी भी दी थी| इसी को देखते हुए इनमें से एक गवाह ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका डाल कर अपने और अपने परिवार पर खतरे का अंदेशा जताते हुए सुरक्षा की मांग की|

दूसरी तरफ मंडोली जेल में बंद सुशील कुमार की जान को खतरा का अंदेशा लगने के बाद, तिहाड़ जेल प्रशासन हरकत में आया और उसके विरोधी लॉरेंस बिश्नोई को दूसरे जेल में शिफ्ट कर दिया गया है | मंडोली जेल में ही बंद सुशील कुमार के विरोधी लॉरेंस बिश्नोई को जेल नंबर एक में स्विफ्ट कर दिया गया है और चारों तरफ हाई सिक्योरिटी लगा दिया गया है |

Leave a comment

Your email address will not be published.