जेल में सजा काट रहे राम रहीम (Ram Rahim) की तबियत अचानक बिगड़ी. हरियाणा के रोहतक जिले की सुनारिया जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख (Dera Sacha Sauda Chief) गुरमीत राम रहीम सिंह (Gurmeet Ram Rahim Singh) की तबीयत बिगड़ने पर उसे पीजीआई रोहतक (PGI Rohtak) में भर्ती कराया गया है. राम रहीम को पेट मे दर्द की शिकायत के बाद पीजीआई में भर्ती करवाया गया है. गुरुवार सुबह करीब 7 बजे राम रहीम को कड़ी सुरक्षा के बीच जेल से पीजीआई लाया गया. इससे पहले 12 मई को भी ब्लड प्रेशर की समस्या के कारण राम रहीम को इसी अस्‍पताल में लाया गया था. फिर ठीक हो कर उसकी जेल वापसी हो गयी थी.

ख़बर ये भी सामने आ रही है कि राम रहीम इस बार कोविड (Covid-19) जांच कराने के लिए तैयार हो गया है. पिछली बार उसने कोविड जांच कराने से मना कर दिया था. पीजीआई में राम रहीम का सीटी स्कैन किया गया. पेट और दिल की जांच की गई. फिलहाल उसका स्वास्थ्य सामान्य है और उसे वापस जेल भेजा गया. इससे पहले 12 मई को राम रहीम को कोरोना की आशंका के चलते भारी सुरक्षा के बीच रोहतक पीजीआई (Rohtak PGI) में भर्ती कराया गया था. राम रहीम को पीजीआई में लाने से पहले सुनारिया जेल से लेकर पीजीआई तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया था. अब उनका पीजीआई के स्पेशल वॉर्ड में इलाज रखा गया था. कड़ी निगरानी के साथ वो ठीक हो कर जेल लॉट चुका है.

पहले भी राम रहीम आया था बाहर?

साथ ही आपको ये भी बता दें कि इससे पहले पैरोल पर गुरमीत राम रहीम सिंह अपनी बीमार मां से मिलने गुरुग्राम के एक अस्पताल में पहुंचा था. राम रहीम ने अपनी बीमार मां नसीब कौर (Naseeb Kaur) से मिलने के लिये 21 दिन की पैरोल मांगी थी. मगर उसे सिर्फ एक दिन की पैरोल मिली थी. राम रहीम अपनी दो महिला शिष्यों से दुष्कर्म के मामले में 2017 से रोहतक की जेल में सजा काट रहा है. दुष्कर्म के मामले में उसे 20 साल के कारावास की सजा सुनाई गई है. जिनमें अबतक लगभग 4 साल की सजा पूरी हो चुकी है.

Leave a comment

Your email address will not be published.