सामाचार नगरी: दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक ऐसी वारदात को अंजाम दिया गया है कि आप सोच भी नहीं सकते दिल्ली जैसे बड़े शहर में भी ऐसी घटनाएं भी होती होंगी. रोहिणी की एक महिला ने अपना बच्चा पाने की आस में एक तांत्रिक की सलाह पर अपने पड़ोसी के तीन-वर्षीय बच्चे की हत्या कर डाली, और उसके शव को प्लास्टिक के थैले में भरकर इमारत की छत पर फेंक दिया. रविवार को पुलिस के पास ये केस दर्ज हुआ.

उस बच्चे के हत्या के जुर्म में गिरफ्तार की गई 25-वर्षीय महिला ने पुलिस को बताया कि उसे बच्चा नहीं होने की वजह से ससुराल पक्ष और अन्य रिश्तेदारों की तरफ से बहुत ताने दिए जाते थे, जिनके चलते उस पर बहुत दबाव था. इसी वजह से वह एक तांत्रिक के पास पहुंची, जिसने परमात्मा को खुश करने के लिए एक बच्चे की बलि देने की बात कही. पुलिस ने बताया कि इसके बाद महिला ने अपने पड़ोसी के बच्चे को मार डाला और उसके शव को प्लास्टिक की थैली में भर दिया. ये सब वो तांत्रिक के कहने पर की.

IMAGE CREDIT-DEPOSITPHOTOS.COM

एक पुलिस अधिकारी(A Police Officer) ने बताया कि नीलम गुप्ता ने पुलिस को बताया है कि उसका विवाह 2013 में हुआ था, लेकिन डॉक्टरों की सलाह के बावजूद वह मां नहीं बन सकी. इसलिए चार साल पहले वह उत्तर प्रदेश के हरदोई में रहने वाले एक तांत्रिक के पास गई, जिसने कहा कि अगर वह मां बनना चाहती है, तो उसे एक बच्चे की बलि देनी होगी. और ये वार्तालाप पिछले 4 साल से चल रही थी.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी(Senior Police Officer) के मुताबिक, मामला शनिवार को सामने में आया, जब लापता बच्चे के माता-पिता पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने पहुंचे, और फिर पुलिस द्वारा उसकी तलाश शुरू की गई. अभियान के दौरान एक पुलिसकर्मी ने पड़ोस के घर की छत पर एक थैला देखा. जब उसे खोला गया, तो लापता बच्चे का शव मिला, जिसकी गर्दन पर चोट के निशान थे. प्रथम दृष्टया लगता है कि बच्चे की हत्या गला घोंटकर की गई. पुलिस अभी भी पूरे मामले की जांच में लगी है.

Leave a comment

Your email address will not be published.