संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार (The United Nations Human Rights) ने शुक्रवार को भारत में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट कर किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों और सरकार दोनों से ‘संयम’ रखने का आह्वान किया है।

“हम अधिकारियों और प्रदर्शनकारियों से आह्वान करते हैं कि वे चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन में अधिक से अधिक संयम बरतें। शांतिपूर्ण विधानसभा और अभिव्यक्ति के अधिकारों को ऑफ़लाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से संरक्षित किया जाना चाहिए। सभी के लिए मानवाधिकारों के प्रति सम्मान के साथ समतामूलक समाधान खोजना महत्वपूर्ण है,”

किसान आंदोलन 2 महिने से दिल्ली बॉर्डर पर चल रही है. किसान और सरकार के बिच 11 बार वैठक हो चुकि है जो बेनतिजा साबित रहा.
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार (The UN Human Rights) कि ये ट्वीट अंतरराष्ट्रीय हस्तियां रिहाना(rihanna),स्वीडिश जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थुनबर्ग (greta thunberg) और अन्य द्वारा किसानों के विरोध के समर्थन में सामने आने के बाद आई है.

गुरुवार को, संयुक्त राज्य अमेरिका(the United States)ने भारत के किसानों को “बातचीत” के लिए भी बुलाया, भारत सरकार से “शांतिपूर्ण विरोध” को मान्यता देने और इंटरनेट तक “पहुंच” की अनुमति देने का आग्रह किया। दिल्ली सीमा पर विरोध स्थलों के आसपास के क्षेत्रों में इंटरनेट बंद होने की रिपोर्ट के मुद्दे पर, अमेरिकी सरकार ने जोर दिया कि सूचना तक पहुंच “संपन्न” लोकतंत्र की “पहचान” थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.