एकीकृत कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसी) के कोविड मरीजों की जरूरतें पूरी करने में नाकाम रहने पर अब मुख्यमंत्री की हेल्पलाइन आई है जो कोविड संक्रमित व्यक्तियों की मदद कर रही है। विभिन्न प्रकार के सहयोग के लिए टोल फ्री नंबर 1076 के माध्यम से सीएम हेल्पलाइन से संपर्क करने वाले 8,16,962 लोगों में से इसने आज तक 8,13,930 लोगों के मुद्दों का समाधान किया है।

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, सीएम हेल्पलाइन ने उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ करने और दवाओं की खुराक और संगरोध नियमों के बारे में उचित चिकित्सा सलाह देने के लिए घर में रहने वाले 13,526 कोरोना पॉजिटिव मरीजों या अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से भी संपर्क किया है।

इसी तरह हेल्पलाइन ने 2,477 कोविड पॉजिटिव मरीजों को फोन कर उनके इलाज और हालत का ब्योरा हासिल किया है।

इसके अलावा, हेल्पलाइन ने होम आइसोलेशन के बारे में पर सलाह देने, उनके परिवारों में किसी अन्य संदिग्ध मामले के बारे में उनसे जानकारी प्राप्त करने और उन्हें दवाएं भेजने की व्यवस्था करने के लिए आज तक कुल 6,100 कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों से संपर्क किया है।

हेल्पलाइन वायरस से लड़ने के तरीके के बारे में जानकारी मांगने वालों से रोजाना बड़ी संख्या में कॉल प्राप्त कर रही है। लोगों की कोरोना से संबंधित समस्याओं को सुनने और उन्हें हल करने के तरीके खोजने में मदद करने के लिए हेल्पलाइन के मुख्यालय में तीन शिफ्टों में करीब 500 कर्मचारी काम करते हैं।

इसके अलावा हेल्पलाइन ने 2,115 ग्राम प्रमुखों और 1,638 पार्षदों को बुलाकर उनसे अपने क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता और संचारी रोग नियंत्रण अभियान की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी है। इस संबंध में अब तक कुल 2,14,140 लोगों से संपर्क किया जा चुका है।

सीएम हेल्पलाइन ने सात प्रमुख कॉविड अस्पतालों में कई मरीजों से भी संपर्क कर चिकित्सा सुविधाओं, स्वच्छता और शौचालयों की व्यवस्था पर उनका फीडबैक लिया और संबंधित अस्पतालों के अधीक्षकों और संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों को इस बारे में अवगत कराया।

हेल्पलाइन के माध्यम से लोगों को प्रदेश में सैंपल जांच की सुविधाओं के बारे में और यह भी कि कोविड मरीजों का इलाज कैसे किया जाता है, बताया जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.