बिहार में शराबबंदी होने के बाद भी आए दिन शराब तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं. इन बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार चौकन्नी होती दिखाई दे रही हैं . इसी कड़ी में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराब पीने वालों के साथ-साथ शराब के धंधेबाजों पर भी पैनी नज़र रखी जाएं.

सोमवार को पटना में मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्देश दिए कि शराब के धंधे में लिप्त कोई भी व्यक्ति किसी हाल में नहीं बचना चाहिए.

नीतीश ने कहा कि जो शराब माफिया कार्रवाई के बाद जेल जाते हैं, उनके जेल से बाहर आने के बाद हर गतिविधि पर नजर बनाए रखें. उन्होंने साथ ही कहा कि लोगों को शराब के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में सोशल मीडिया एवं अन्य प्रचार तंत्रों के माध्यम से जागरुक करें.

साथ ही सोशल मीडिया के माध्यम से शराब माफियाओं की गिरफ्तारी एवं उन पर की जा रही कार्रवाई के संबंध में भी लोगों को जानकारी दें.बैठक में पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, गृह सह मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार एवं चंचल कुमार, मद्य निषेध सह उत्पाद आयुक्त बी कार्तिकेय, मद्य निषेध महानिरीक्षक अमृत राज सहित अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

Leave a comment

Your email address will not be published.