UP: हिरासत में ले जाने से पहलें प्रयंका ने कहा “आखिर सरकार में किस बात का डर है ?”

1

योगिता लढ़ा, नई दिल्ली। कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका गांधी वाड्रा को बुधवार को यूपी पुलिस ने हिरासत में लिया है। ऐसा इस महीने में दूसरी बार हो रहा हैं। प्रियंका पुलिस हिरासत में मारे गए व्यक्ति के परिजनों से मिलने आगरा जा रही थी। उनकी कार को लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे के पहले टोल प्लाजा पर रोका गया।

ये भी पढ़े: Tata PUNCH: जानिए इस दमदार micro-SUV की सारी स्पेसीफिकेशन्स, फीचर्स और कीमत

दरअसल, शनिवार को सफाई कर्मचारी अरुण वाल्मीकि पर पुलिस स्टेशन के गोदाम से 25 लाख रुपए चोरी करने का आरोप लगाया गया था। पुलिस के अनुसार अरुण ने चोरी को स्वीकार भी किया। इसके बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो अरुण के घर से 15 लाख रुपए बरामद किए गए थे।  मंगलवार रात जब उनके घर पर छापेमारी की जा रही थी, तो अरुण की तबीयत बिगड़ गई। जिस कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया। जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था। इसके बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। उनकी डेड बॉडी को परिवार को सौंप दिया गया था।

प्रियंका ने इस मामले पर ट्वीट किया। जिसमें उनका कहना था कि, “किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है।” प्रियंका पहले से ही यूपी के दौरे पर थी। आज प्रियंका अरुण के परिवार से मिलने आगरा जा रही थी। उनकी कार को लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर रोक दिया गया। यूपी पुलिस के अनुसार, आगरा के जिला मैजिस्ट्रेट ने राजनेताओं के क्षेत्र में प्रवेश करने पर रोक लगाई है। जिस कारण प्रियंका गांधी को क्षेत्र में जाने की अनुमति नहीं है। आपको बता दें यूपी पुलिस ने उस इलाके में धारा 144 भी लगा दी है।

हिरासत में ले जाने से पहले प्रियंका का कहना था कि “वो जहां भी जाती है उन्हें रोक दिया जाता है। आखिर सरकार में किस बात का डर है?” इसके बाद प्रियंका गांधी के टि्वटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया। जिसमें वो अरुण वाल्मीकि की मौत का न्याय मांग रही है। प्रधानमंत्री मोदी पर भी प्रियंका गांधी ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि, “आज भगवान वाल्मीकि जयंती है। पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं।”

ये भी पढ़े: UP ELECTION 2022: “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” कहकर Priyanka Gandhi का ये बड़ा ऐलान

प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ-साथ उनके भाई और पार्टी सांसद राहुल गांधी को भी अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलने पर रोक लगा दी थी। हालांकि, यूपी सरकार ने बाद में दोनों विपक्षी नेताओं को अरुण के परिवार से मिलने की अनुमति दे दी है। इससे पहले लखीमपुर खीरी विवाद के दौरान भी प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में लिया गया था।

ये भी पढ़े: PAK: भारत पर लगाए पाकिस्तानी जल क्षेत्र में घुसने के आरोप

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here