कनपुरिये लड़के ने तोड़ा आशिकी के सारे रिकॉर्ड, एक साथ 200 लड़कियों से करता था बात, अब यूपी पुलिस करेगीं ये….

0
Kanpur latest NEws

कानपुर क्राइम ब्रांच पुलिस ने अश्लील वीडियो बनाकर लड़कियों को ब्लैकमेल करने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के मोबाइल फोन से करीब 65 लड़कियों के अश्लील वीडियो बरामद किए हैं। पीड़ितों में से एक ने 7 अगस्त को कल्याणपुर पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद उस व्यक्ति को गिरफ्तार किया था।

डीसीपी (अपराध) सलमान ताज पाटिल ने कहा, “शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि अंकुर उमर नाम के एक व्यक्ति ने फेसबुक पर उससे दोस्ती की, उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए और फिर अश्लील वीडियो फिल्माएं। उसने आरोप लगाया कि वह अब उसे ब्लैकमेल कर रहा है। उसके परिवार के सदस्यों को भी इस सब के बारे में पता चल गया है।”

गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान शाहजहांपुर निवासी 28 वर्षीय शेखर सुमन के रूप में हुई है। क्राइम ब्रांच ने जब उसके मोबाइल और फेसबुक अकाउंट को क्रॉस चेक किया तो वे दंग रह गए। पुलिस अधिकारी ने कहा, “उसके मोबाइल फोन से लड़कियों के करीब 65 अश्लील वीडियो बरामद किए गए। इसके साथ ही सैकड़ों लड़कियों के चैटिंग विवरण और उनके संपर्क नंबर भी मिले।”

जाहिर तौर पर शेखर फेसबुक और इंस्टाग्राम पर फर्जी आईडी के जरिए लड़कियों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता था। वह उन्हें रिश्ते में फंसाता था और फिर अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करता था।

डीसीपी ने कहा, “शेखर सुमन रोजाना 150 से 200 लड़कियों से चैट करता था। उसने फेसबुक पर अंकुर गुप्ता, आयुष अग्रवाल, अंकुर उमर, नेहा अग्रवाल, सौम्या उमर आदि के नाम से फर्जी आईडी बनाई है, जो अकाउंट इस नाम से बनाया गया है। अंकुर उमर, इसमें केवल उसकी असली फोटो है जबकि बाकी में लड़कियों की नकली तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है। अंकुर शेखर का निक नेम है।”

इस जांच में पता चला कि शेखर आगरा, शाहजहांपुर, लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, प्रयागराज के साथ-साथ दिल्ली, मुंबई, झारखंड और उत्तराखंड की लड़कियों के संपर्क में था। सैकड़ों लड़कियों को फंसाने वाले शेखर ने शाहजहांपुर के एक पोस्ट ग्रेजुएट संस्कृत कॉलेज से ग्रेजुएशन किया था। उन्हें यह विचार उनके एक मित्र सत्यम अवस्थी से मिला। शनिवार को गिरफ्तार किए गए शेखर के मुताबिक सत्यम भी इसी तरह से लड़कियों से दोस्ती करता था।

डीसीपी सलमान ताज पाटिल ने कहा, “क्राइम ब्रांच अब अन्य पीड़ितों से संपर्क करने की कोशिश करेगी। इसके लिए शेखर सुमन के सोशल मीडिया अकाउंट्स को भी स्कैन किया जाएगा। उनके पीड़ित अब आगे आ सकते हैं और अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here