Cyclone storm: राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (National Disaster Response Force) की 9वीं बटालियन की सभी 19 टीमें चक्रवाती तूफान (Cyclonic storm)‘यास’ से निपटने के लिए ओड़िशा, झारखंड और बिहार के विभिन्न जिलों में अत्याधुनिक आपदा प्रबंधन तथा संचार उपकरणों से लैस होकर तैनात हैं। चक्रवाती तूफान के खतरे को देखते हुए पहले से ही राज्य सरकार द्वारा अपने-अपने राज्य में हाई अलर्ट जारी दिया गया था, जिसको देखते हुए 9वीं बटालियन एनडीआरएफ (NDRF) की टीमें ओड़िशा, झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल में बचाव एवं राहत कार्यो के लिए तैनात हो चुकी हैं।

9वीं बटालियन के कमांडेंट विजय सिन्हा (Commandant Vijay Sinha) ने बुधवार को बताया, “चक्रवात यास से निपटने के लिए सभी टीमें पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, झारखंड और बिहार के विभिन्न जिलो में तैनात हैं। इन टीमों के कुल लगभग 500 बचावकर्मी शामिल हैं जो चक्रवाती तूफान यास के दौरान हर चुनौती का सामना करने तथा आपदा की घड़ी में स्थानीय लोगों को हर संभव मदद करने को तैयार है।”

इस दौरान एनडीआरएफ (NDRF) के बचावकर्मी विभिन्न जिलों में इस चक्रवाती तूफान से बचने के लिए लोगों के बीच कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए स्थानीय लोगों के बीच जागरूकता का कार्यक्रम भी चला रहे हैं तथा संभावित खतरों को देखते हुए उन्हें सुरक्षित जगहों पर पहुंचा रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.