भारत बॉयोटेक : इन Volunteers को दी गई Covaxine की दुसरी डोज

0
Corona Increase

Hyderabad:भारत बॉयोटेक ने शुक्रवार को घोषणा की कि 13,000 स्वयंसेवकों (volunteers) को तीसरे परीक्षणों में सफलतापूर्वक अपने कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ की दूसरी खुराक दी गई है। भारत बॉयोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड की संयुक्त प्रबंध निदेशक सुचित्रा एला ने स्वयंसेवकों को उनके प्रो-वैक्सीन सार्वजनिक स्वास्थ्य वॉलेंटियरिज्म (Volunteerism) को धन्यवाद दिया।

16 जनवरी को स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए शुरू किए गए राष्ट्रव्यापी टीकाकरण (Nationwide vaccination)कार्यक्रम के हिस्से के रूप में क्लीनिकल ट्रायल मोड में देश में कोवैक्सीन की खुराक दी गई। हैदराबाद स्थित फर्म ने 7 जनवरी को घोषणा की थी कि उन्होंने अपने तीसरे चरण के लिए 25,800 लोगों की भर्ती पूरी कर ली है।

2 जनवरी को, कंपनी ने कहा कि उन्होंने 23,000 स्वयंसेवकों की भर्ती की है। अगले दिन ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने क्लीनिकल ट्रायल मोड में इसके प्रतिबंधित उपयोग को मंजूरी दे दी।

भारत बायोटेक द्वारा भारत की पहला स्वदेशी कोरोनावायरस वैक्सीन भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR)- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) के सहयोग से विकसित की गई है। यह स्वदेशी, निष्क्रिय टीका भारत में बायोटेक के बीएसएल-3 (Biosafety level-3) जैव-रोकथाम सुविधा के रूप में विकसित और निर्मित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here