चीन से एक और वायरस आया सामनें, H10N3 Strain से मिला एक संक्रमित, हुआ कुछ ऐसा?

0
New Flu From China
Image by- Newsbyte

Latest News: चीन से एक और वायरस सामनें आया है ये जाना पहचाना वायरस है लेकिन मनुष्य में पहली बार देखा गया ये वैरिएंट. बर्ड फ्लू के एच10एन3 स्वरूप (Bird flu H10N3 Strain) से संक्रमित होने का पहला मामला चीन (China) के पूर्वी प्रात जियांग्सु (jiangsu) में सामने आया है. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को यह जानकारी दी. सरकारी सीजीएनटी टीवी (Government cgnt tv) ने बताया कि झेनजियांग शहर के 41 वर्षीय मरीज की हालत स्थिर है और उसे अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है. झेनजियांग के रहने वाले इस शख्स को बुखार और अन्य लक्षण दिखने के बाद 28 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 28 मई को इस शख्स के एच10एन3 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस (H10N3 avian influenza virus) से संक्रमित होने का पता चला था, हालांकि उसने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि वह व्यक्ति वायरस से कैसे संक्रमित हुआ. अभी तक उन्होनें बस यहीं साझा किया है कि एक संक्रमित पाया गया है.

वहीं स्वास्थ्य प्राधिकारियों (Health authorities) का इस पर क्या कहना है तो उन्होनें इस संक्रमण को ज्यादा तवज्जो नहीं देते हुए कहा कि यह मुर्गी से मनुष्यों में वायरस फैलने का छिटपुट मामला है और इससे महामारी फैलने का खतरा बहुत कम है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने एक बयान में बताया कि मरीज 28 मई को एच10एन3 (H10N3 Virus) वायरस से संक्रमित पाया गया था. आयोग ने यह नहीं बताया कि व्यक्ति संक्रमित कैसे हुआ. उसने बताया कि इससे पहले दुनिया में कहीं भी मनुष्यों में एच10एन3 संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है. हालांकि बर्ड फ्लू मनुष्य में पाया गया है लेकिन ऐसा वैरिएंट नहीं.

पिछलें 4-5 साल पहले 2016-17 में लगभग 300 लोगों की मौत हुई थी जो कि एच10एन3 मुर्गे-मुर्गियों में फैलने वाले में बर्ड फ्लू का अपेक्षाकृत कम गंभीर स्वरूप है और इसके बड़े पैमाने पर फैलने का जोखिम बहुत कम है. चीन में एवियन इन्फ्लूएंजा के कई अलग-अलग प्रकार मौजूद हैं और कुछ छिटपुट रूप से लोगों को संक्रमित करते हैं, आमतौर पर वे जो मुर्गी पालन करते हैं. 2016-2017 के दौरान H7N9 स्ट्रेन से लगभग 300 लोगों की मौत होने के बाद से बर्ड फ्लू से मानव संक्रमण के कोई खास मामले सामने नहीं आए. चीन में बर्डफ्लू के विभिन्न स्वरूप हैं, जिनके मनुष्यों को संक्रमित करने के मामले भी कभी-कभी सामने आते हैं. पर ये कुछ अलग वैरिएंट है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here