ब्लू ग्लेशियर आइस रनवे पर पहली बार उतरा एयरबस A–340 विमान…..

0

पहल गुप्ता,नई दिल्ली: Antarctica में पहली बार उतरा एयरबस A–340।ये विमान 3000 फीट लंबे रनवे पर लैंड हुआ।पुर्तगाली चार्टर एयरलाइन हाई फ्लाई ने केपटाउन से अंटार्कटिका और फिर वहा से वापसी की यह फ्लाइट संचालित की। पर्यटन के छेत्र में काम करने वाला एक कंपनी समूह ने एयरबस A340 को अंटार्कटिक में सुरक्षित लैंड कराने का इतिहास रचा है।ऑस्ट्रेलिया के मिलिट्री पायलेट और एक्सप्लोरर जॉर्ज हुबार्ट विलिंकिस ने सन1928 में सबसे पहले अंटार्टिका तक उड़ान भरी थी।वे लॉकहीड वेगा 1 मोनोप्लेन।

“हाई फ्लाई” नाम के एक एविएशन कंपनी ने इस फ्लाइट को अंजाम दिया।अंटार्कटिका में साल भर बर्फ कि ऊची ऊंची परत जमी रहती है।बर्फ पर ही 3000 फीट लंबा रनवे बनाया गया है।दरअसल,पहले पहले यहां सन 2019 से लेकर 2020 तक 6 ट्रायल किए जा चुके है।उसके बाद 290 यात्री क्षमता वाले 223 फीट लंबे विमान को लैंड कराया जा चुका है।

अंटार्कटिका में इसके इलावा और भी कई प्रोजेक्ट पर काम कर रही है कंपनिया।”हाई फ्लाई” ने बताया कि अंटार्कटिका पर्यटक का एक उभरता हुआ छेत्र है।इसलिए कंपनिया यहां पर और भी कई बेहतरीन प्रोजेक्ट्स पर काम कर रही है।ये कंपनी वेट लीस में विशेषज्ञता रखता है।जिसके दौरान ये एयरक्राफ्ट और एयरक्रू को किराए पर लेते है और इसमें इंश्योरेंस ,विमान की मेंटेनेंस और बाकी लॉजिस्टिक्स की जिम्मेदारी भी कंपनी उठती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here